ताज़ा खबर
 

LIC’s JEEVAN LABH: इंश्योरेस कवरेज, मैच्योरिटी पर बढ़िया रकम, साथ में लोन फैसिलिटी, जानें पूरी स्कीम

यह पॉलिसी मैच्योरिटी से पहले किसी भी समय पॉलिसीधारक की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले में परिवार के लिए आर्थिक सहायता देती है और जीवित पॉलिसीधारक के लिए मैच्योरिटी के समय एकमुश्त राशि भी मिलती है।

सांकेतिक तस्वीर।

LIC की जीवन लाभ पॉलिसी सीमित प्रीमियम भुगतान, गैर-लिंक्ड, प्रॉफिट एंडोमेंट प्लान के साथ जो सुरक्षा और बचत प्रदान करती है। यह पॉलिसी मैच्योरिटी से पहले किसी भी समय पॉलिसीधारक की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले में परिवार के लिए आर्थिक सहायता देती है और जीवित पॉलिसीधारक के लिए मैच्योरिटी के समय एकमुश्त राशि भी मिलती है।इसके अलावा इस पॉलिसी मार्केट लिक्विडिटी के हिसाब से लोन की सुविधा भी मिलती है।

डेथ बेनिफिट: पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु के मामले में, बशर्ते सभी देय प्रीमियमों का भुगतान किया गया हो तो मृत्यु लाभ यानी कि “सम एश्योर्ड ऑन डेथ” बोनस और अंतिम अतिरिक्त बोनस जैसा अगर है तो यह फायदा भी पॉलिसी धारक के परिवार को मिलेगा। “सम एश्योर्ड ऑन डेथ” को वार्षिक प्रीमियम के 10 गुना या पूर्ण राशि के रूप में परिभाषित किया गया है यह मृत्यु पर भुगतान किया जाएगा। करने का आश्वासन दिया गया है यानी बेसिक सम एश्योर्ड। यह मृत्यु लाभ मृत्यु की तारीख के अनुसार भुगतान किए गए सभी प्रीमियमों के 105% से कम नहीं होगा।हालांकि इस प्रीमियम में कोई कर शामिल नहीं होगा

मैच्योरिटी बेनिफिट: “सम एश्योर्ड ऑन मेच्योरिटी” बेसिक सम एश्योर्ड के बराबर होगी इसमें अगर कोई बोनस और अंतिम अतिरिक्त बोनस भी होता है तो उसे भी शामिल किया जाएगा। सभी देय प्रीमियम का अगर भुगतान कर दिया गया है तो तो पॉलिसी अवधि के अंत में इस राशि के आधार पर एकमुश्त राशि में देय होगी। इसके अलावा अंतिम (अतिरिक्त) बोनस को पॉलिसी के तहत उस वर्ष भी घोषित किया जा सकता है जब पॉलिसी परिणाम में मृत्यु या परिपक्वता का दावा करती है।

Next Stories
1 EPFO: चुटकियों में निकालिए पीएफ का पैसा, बस करना होगा यह काम
2 Aadhaar: आपके डेटा में कोई नहीं लगा पाएगा सेंध, जानें Lock करने का तरीका
3 SBI खाते को Aadhaar से जल्द करवा लीजिए लिंक, अपना सकते हैं ये 5 तरीके
ये पढ़ा क्या?
X