ताज़ा खबर
 

5 साल के भीतर नौकरी छोड़ने पर पीएफ़ में जमा राशि पर नहीं लगेगा टैक्स, जानें क्या हैं शर्तें

भविष्य निधि निकासी नियमों के अनुसार, यदि कर्मचारी ने पांच साल की लगातार अवधि के लिए काम नहीं किया है और इस बीच पीएफ़ अकाउंट से पैसे निकालते हैं तो इनकम टैक्स कानून के नियमों के हिसाब से आपको इस पर इनकम टैक्स चुकाना पड़ेगा।

पीएफ की निकासी और बैलेंस ट्रांसफर अब आसान

नौकरीपेशा लोगों के लिए अपनी बंधी- बंधाई सैलरी में बचत कर पाना आसान नहीं होता है। इसी बात को समझते हुए ईपीएफओ बनाया गया जिसमें नौकरीपेशा लोगों की सैलरी में से पीएफ का पैसा काटा जाता है। इस पैसे को अकाउंट में जमा किया जाता है जिसे आप बाद में निकाल सकते हैं। भविष्य निधि निकासी नियमों के अनुसार, यदि कर्मचारी ने पांच साल की लगातार अवधि के लिए काम नहीं किया है और इस बीच पीएफ़ अकाउंट से पैसे निकालते हैं तो इनकम टैक्स कानून के नियमों के हिसाब से आपको इस पर इनकम टैक्स चुकाना पड़ेगा।

भविष्य निधि निकासी नियमों के अनुसार, यदि कर्मचारी ने पांच साल की लगातार अवधि के लिए काम नहीं किया है, तो पीएफ़ में जमा राशि पर टैक्स देना होगा। भविष्य निधि निकासी नियमों के अनुसार कोई सदस्य नौकरी के दौरान जमा किये गए कुल रकम का 75% जॉब छोड़ने के एक महीने बाद निकाल सकता है। अगर व्यक्ति दो महीने से ज्यादा बेरोजगार रहता है तो वह पीएफ़ अकाउंट से पूरी रकम निकाल सकता है। लेकिन आगर कर्मचारी को अस्वस्थता के कारण नियोक्ता द्वारा व्यवसाय बंद करने या कर्मचारी के नियंत्रण से परे किसी अन्य कारण से अगर वह ऐसा करता है तो ऐसे मामलों में, भले ही पांच साल से कम की सेवा हो, कर्मचारी के लिए ईपीएफ शेष राशि पर कोई टैक्स नहीं लगता।

मान लीजिये कि आपने साल 2014-15 और 2016-17 में ईपीएफ़ में रकम जमा कराई. इसके बाद साल 2017-18 में आपने जॉब छोड़ दी और इसी साल आपने पीएफ़ अकाउंट में जमा रकम निकालने का फैसला किया। इस तरह आपके पीएफ़ अकाउंट से रकम निकालने पर साल 2017-18 में टैक्स चुकाना पड़ेगा.इस साल में आपकी आमदनी पर साल 2014-15 और साल 2016-17 में जो टैक्स लगता था, उसी हिसाब से इस साल आपको रकम निकासी के बाद टैक्स चुकाना पड़ेगा।

वहीं अगर कर्मचारी  5 साल से कम समय में अपनी नौकरी बदलता है और पीएफ शेष को नए संगठन में स्थानांतरित करता है। ऐसे मामले में पीएफ़ की राशि पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। इसलिए नौकरी बदलते समय हमेशा पीएफ बैलेंस ट्रांसफर करने का सुझाव दिया जाता है।

Next Stories
1 रेलवे ने रद्द कीं 450 से अधिक गाड़ियां, देखें कैंसल ट्रेनों की लिस्ट यहां
2 रेल यात्रियों को राहत! अब मिलेंगे अधिक तत्काल टिकट, Indian Railways IRCTC ने किया अवैध सॉफ्टवेयरों का सफाया
3 बच्चे के Aadhaar Card में सेवा केंद्रकर्मी से हो गई है स्पेलिंग या टाइपिंग की चूक, तब यूं पकड़ सकते हैं गलती; जानें सही कराने का तरीका
ये पढ़ा क्या?
X