ताज़ा खबर
 

कैसे पैक किया जाता है सूटकेस, यह है सही तरीका

ऑस्ट्रेलिया में रहने वाली अनीता बिर्ग्स फीमेल नामक संस्था की संस्थापक हैं। उन्होंने बताया कि पैकिंग से पहले तय करना चाहिए कि आप सामान किस बैग या सूटकेस में रख रहे हैं। अगर आपके साथ किसी और का भी सामान है, तो उसे आप उसी बैग में दूसरी पन्नी में रख सकते हैं। ऐसे में सामान को लेकर किसी प्रकार का भ्रम नहीं पैदा होगा।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

पैकिंग करना किसी टास्क से कम नहीं होता। खासकर तब, जब सामान अधिक हो। इस स्थिति में बैग या सूटकेस में जगह कम लगने लगती है। मगर पैकिंग सही तरीके से की जाए, तो आप ज्यादा सामान भी रख लेंगे और परेशान होने से भी बच जाएंगे। आपकी इसी परेशानी को दूर करने के एक्सपर्ट्स ने अपनी सुझाव साझा किए हैं। ऑस्ट्रेलिया में रहने वाली अनीता बिर्ग्स फीमेल नामक संस्था की संस्थापक हैं। उन्होंने बताया कि पैकिंग से पहले तय करना चाहिए कि आप सामान किस बैग या सूटकेस में रख रहे हैं।

अनीता के अनुसार, अगर आपके साथ किसी और का भी सामान है, तो उसे आप उसी बैग में दूसरी पन्नी में रख सकते हैं। ऐसे में सामान को लेकर किसी प्रकार का भ्रम नहीं पैदा होगा। कपड़े तहाने के बजाय एक्सपर्ट ने उन्हें सलीके से लपेटकर रखने के लिए कहा, ताकि बैग में अतिरिक्त सामान आ सके। सामान भरने के बाद उन्होंने बैग को दबाया, ताकि अंदर भरी हवा निकल सके।

उन्होंने बताया कि पैकिंग के बाद आप जिस भी डेस्टिनेशन पर पहुंचे, कोशिश करें कि कपड़ों को सूटकेस से निकाल कर हैंगर्स में लटका दें, ताकि उनकी क्रीज न खराब हो। अनीता ने इसी के साथ सुझावा दिया कि घूमने-फिरने और ट्रिप के दौरान कुछ भी हो सकता है।

ऐसे में आप बैग में पेन किलर, कफ सिरप, बैंड एड और टी ट्री ऑइल रख लें। थर्मोमीटर और टॉर्च जैसी चीजें रखेंगे, तो वे आपके काम आएंगी। उन्होंने आगे कि सारा सामान व्यवस्थित तरीके से रखा जाना चाहिए। मसलन एसेसरीज एक जगह, हेल्थ-हाइजीन से जुड़ा सामान एक जगह। अधिकतर कोशिश एक किस्म के सामान को एक जगह रखने की करनी चाहिए।

उधर, न्यूयॉर्क टाइम्स कंपनी वायर कटर ने घंटों ट्रैवल उत्पादों पर खर्च किए, जिसके बाद उन्होंने कुछ सुझाव दिए हैं। उनके अनुसार, सूटकेस का आकार 22 इंच से अधिक नहीं होना चाहिए। सूटकेस या बैग को लेकर एक-एक इंच की कीमत समझनी चाहिए। मसलन मोजे जूतों में रखे जा सकते। कपड़ों को तहाने के बजाय लपेटकर रखने से बैग-सूटकेस में अधिक जगह मिल सकेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App