ताज़ा खबर
 

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से मिला नोटिस या ऑर्डर असली है या नहीं? चुटकियों में लगाए पता, ये है तरीका

टैक्सपेयर्स ऐसे किसी फर्जी नोटिस का कंप्यूटर जेनरेटेड आइडेंटिफिकेशन नंबर के द्वारा पता लगा सकते हैं। इनकम टैक्स अथॉरिटीज की ओर से जारी होने वाले सभी नोटिस, ऑर्डर, समन को सेंट्रलाइज्ड कंप्यूटर सिस्टम से जारी किया जाता है।

INCOME TAXप्रतीकात्मक तस्वीर।

इनकम टैक्स डिपॉर्टमेंट की तरफ से लोगों को नोटिस और ऑर्डर जारी किए जाते हैं। डिपार्टमेंट की तरफ से इस तरह के नोटिस और ऑर्डर के पीछे अलग-अलग वजह हो सकती हैं। मसलन आईटीआर फाइल न करना, गलत जानकारी देना आदि। वहीं फर्जी नोटिस और ऑर्डर के मामले भी लगातार सामने आते रहते हैं जिनके जरिए कई लोग ठगी का शिकार हो जाते हैं।

टैक्सपेयर्स ऐसे किसी फर्जी नोटिस का कंप्यूटर जेनरेटेड आइडेंटिफिकेशन नंबर के द्वारा पता लगा सकते हैं। इनकम टैक्स अथॉरिटीज की ओर से जारी होने वाले सभी नोटिस, ऑर्डर, समन को सेंट्रलाइज्ड कंप्यूटर सिस्टम से जारी किया जाता है।

टैक्सपेयर्स को जो भी नोटिस जारी किए जाते हैं वह ई-मेल पर भी भेजे जाते हैं। इसके अलावा उन्हें डिपार्टेमेंट द्वारा ई-फाइलिंग पोर्टल पर भी अपलोड किया जाता है। ऐसे में टैक्सपेयर्स बड़े ही आसानी से उनकी प्रामाणिकता की जांच कर सकते हैं।

बात करें कंप्यूटर जेनरेटेड आइडेंटिफिकेशन नंबर के जरिए किसी नोटिस या ऑर्डर की सत्यता जानने की तो टैक्सपेयर्स को सबसे पहले www.incometaxindiaefiling.gov.in पर विजीट करना होगा।

इसके बाद यहां बायीं ओर ‘quick links’ टैब के नीचे ‘authenticate’ टैब दिखाई देगा। इसमें ‘Notice/Orderइश्यूड बाय ITD’ ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपको कंप्यूटर जेनरेटेड आइडेंटिफिकेशन नंबर, या पैन, मंथ ऐंड इयर ऑफ इशू आदि  दर्ज करना होगा। इसके बाद Captcha कोड दर्ज कर सब्मिट पर क्लिक कर नोटिस की सत्यता का पता लग जाएगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बैंक रिकरिंग डिपॉजिट और फिक्सड डिपॉजिट में से कौन बेहतर? निवेश से पहले जान लें ये अंतर
2 होम लोन नहीं चुका पा रहे? जानें ऐसी स्थित में क्या हैं आपके अधिकार, बैंक क्या-क्या एक्शन ले सकता है
3 क्या होती है Cibil Report? क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करते हैं तो जान लें Cibil Score से कैसे है ये अलग
यह पढ़ा क्या?
X