ताज़ा खबर
 

बैंकों से ज्‍यादा फायदेमंद है Post Office में अकाउंट खोलना, जानें कैसे

Post Office Saving Account: बैंक फिक्सड डिपॉजिट (एफडी) के मामले में भी ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। बैंकों की तुलना में इसकी एफडी पर ज्यादा बेहतर रिटर्न मिलता रहा है।

bank customersबैंक में खड़े ग्राहक।

Post Office Saving Account: पोस्ट ऑफिस में निवेश के कई फायदे हैं। अगर आप अपनी मेहनत की मोटी और गाढ़ी कमाई को बिना जोखिम निवेश करना चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस बैंक में निवेश कर सकते हैं। पोस्ट में खाता खुलवाने के कई फायदे हैं।

खास बात यह है कि पोस्ट ऑफिस अकाउंट बैंकों से ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। ये अन्य बैंकों के खाते की तरह ही होता है। आज भी देश के ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में पोस्ट ऑफिस में लोग खाता खुलवाना ज्यादा पसंद करते हैं। पोस्ट ऑफिस के इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में अलग-अलग तरह के खाते खुलवाए जा सकते हैं।

इसमें निर्धारित दर पर ब्याज मिलता है। यह बैंक फिक्सड डिपॉजिट (एफडी) के मामले में भी ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। बैंकों की तुलना में इसकी एफडी पर ज्यादा बेहतर रिटर्न मिलता रहा है। पोस्ट ऑफिस खाते में एफडी पर 6.25 फीसदी से 7.5 फीसदी तक ब्याज मिलता है। बैंक में यह दर 3.75 से 7.25 तक जाती है।

पोस्ट ऑफिस में सेविंग्स बैंक, रीकरिंग डिपॉजिट, टाइम डिपॉजिट, मंथली इनकम स्कीम, पब्लिक प्रोविडेंट फंड, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट, सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम और किसान विकास पत्र, सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाया जा सकता है।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में 20 रुपये देकर बचत खाता खुलवाया जा सकता है। खास बात इन खातों में महज 50 रुपये का न्यूनतम बैलेंस रखना होता है। पोस्ट ऑफिस बैंक खातों पर 10,000 रुपये तक का ब्याज पूरी तरह से टैक्स के दायरे से बाहर होता है। चेक और पासबुक की भी सुविधा मिलती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 7th Pay Commission: इन सरकारी कर्मचारियों को बोनस गिफ्ट, सरकार ने किया एलान
2 Post Office Kisan Vikas Patra Scheme: एकबार पैसा भरकर पा सकते हैं डबल अमाउंट, 1 लाख रुपये के बदले पाएं 2 लाख
3 LIC जीवन आनंद पॉलिसी में रोजाना 108 रुपये का निवेश कर पास सकते हैं 31 लाख रु की मोटी रकम
यह पढ़ा क्या?
X