आपकी CNG कार दे रही बेहद कम माइलेज? बढ़ाने के लिए अपनाएं ये तरीके

लोगों को समझ नहीं आता कि दिक्कत कहां पर है? दरअसल सीएनजी कार कम माइलेज दे रही है तो इसके पीछे कुछ महत्वूपूर्ण कारण हो सकते हैं।

सीएनजी पंप के बाहर गैस भरवाते ग्राहक। Express Phoro by Gajendra Yadav

भारतीय बाजार में सीएनजी कारों की काफी ज्यादा डिमांड है। कई लोग पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से तंग आकर सीएनजी कार का रुख करते हैं। सीएनजी पेट्रोल के मुकाबले काफी सस्ती भी है और इसके जरिए कार बढ़िया माइलेज के साथ चलती है। यानी सीएनजी कारों के लिए प्रति किलोमीटर लागत भी कम होती है।

कई लोगों को शिकायत रहती है कि उनकी सीएनजी कार ज्यादा बेहतर माइलेज नहीं देती। ऐसे में लोगों को समझ नहीं आता कि दिक्कत कहां पर है? दरअसल सीएनजी कार कम माइलेज दे रही है तो इसके पीछे कुछ महत्वूपूर्ण कारण हो सकते हैं।

Santro Magna CNG: 64 हजार रुपये की डाउनपेमेंट के बाद घर ले जाएं ये कार, जानें कितना देती है माइलेज

आज हम आपको इन्हीं कारणों के बारे में बता रहे हैं जिनकी वजह से अक्सर माइलेज कम हो जाती है। सीएनजी पर चलने वाली कारों से ज्यादा माइलेज निकालने के कुछ तरीके हैं। आइए इन तरीकों के बारे में जानते हैं:-

/

  1. स्पार्क प्लग का खराब हो जाना या फिर अपनी घिस जाना एक बड़ी वजह माना जाता है। यह कार की माइलेज को बनाए रखने के लिए सबसे महत्पू्र्ण पार्ट्स में से एक है। कहा जाता है कि हर 10 हजार किलोमीटर गाड़ी के बाद इसे जरूर बदलवाना चाहिए।
  2. एयर फिल्टर का गंदा हो जाना भी माइलेज कम देने का कारण हो सकता है। एयर फिल्टर को हर सर्विस पर बदलवा लेना चाहिए।
  3. अगर आप अपनी कार की निश्चित समय अंतराल के बाद सर्विस नहीं करवाते हैं तो तब भी माइलेज पर फर्क पड़ता है।
  4. सीएनजी लीकेज की जांच जरूर करवानी चाहिए। कई बार ऐसा होता है कि किसी प्वाइंट से गैस लीक हो रही होती है और पता ही नहीं चलता। इसका असर माइलेज पर पड़ता है।
  5. समय-समय पर सीएनजी की सर्विस जरूर करवाएं
  6. बेहतर क्वालिटी वाले पार्ट्स ही सीएनजी किट में शामिल करें
  7. कार का टायर प्रेशर भी जरूर चेक करना चाहिए। टायर में अगर कम हवा होगी तो माइलेज पर असर पड़ेगा।
  8. कार का कल्च और इग्निशन कॉइल की जांच करें। अगर खराब पाई जाती है तो बदलाव लें।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट