ताज़ा खबर
 

क्या है IRCTC e-Wallet और कैसे करें इसके लिए रजिस्ट्रेशन? जानिए इसके फीचर्स

IRCTC e-Wallet: आईआरसीटीसी के मुताबिक, टिकट बुक करने की प्रकिया से पहले इस वॉलेट में पैसे डालने पड़ते हैं, जबकि उसके बाद आसानी से इसे टिकट बुकिंग के लिए पेमेंट ऑप्शन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

Author नई दिल्ली | Published on: June 26, 2019 9:52 PM
IRCTC e-Wallet: तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः irctc)

IRCTC e-Wallet: इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने रेल टिकटों के भुगतान के लिए यात्रियों को अपनी ई-टिकेटिंग वेबसाइट- www.irctc.co.in पर विभिन्न जरिए मुहैया करा रखे हैं। डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, मोबाइल वॉलेट, आईआरसीटीसी-एसबीआई को. ब्रांडेड कार्ड्स और अन्य ऑप्शंस के बीच आईआरसीटीसी के ई-वॉलेट का भी विकल्प मिलता है। इसके जरिए आसानी से टिकट का पेमेंट किया जा सकता है।

आईआरसीटीसी के मुताबिक, टिकट बुक करने की प्रकिया से पहले इस वॉलेट में पैसे डालने पड़ते हैं, जबकि उसके बाद आसानी से इसे टिकट बुकिंग के लिए पेमेंट ऑप्शन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि, इसका लाभ लेने के लिए रजिस्ट्रेशन भी कराना जरूरी होता है। 50 रुपए (सर्विस टैक्स छोड़कर) का शुल्क अदा कर कोई भी इस ई-वॉलेट के लिए खुद को रजिस्टर कर सकता है, पर ये रकम (50 रुपए) रिफंडेबल नहीं होते, जबकि बाद में 10 रुपए (सर्विस टैक्स के बिना) ट्रांजैक्शन चार्ज के रूप में वसूले जाते हैं।

कौन पा सकता है इसका फायदा?: भारतीय नागरिक ही आईआरसीटीसी के ई-वॉलेट का लाभ ले सकते हैं। आईआरसीटीसी के मुताबिक, इस सुविधा का फायदा पाने के लिए भारत का मोबाइल नंबर भी होना चाहिए।

ई-वॉलेट से ये होगा लाभः आईआरसीटीसी के ई-वॉलेट के जरिए यूजर प्रति टिकट पर दिए जाने वाले पेमेंट गेटवे चार्ज देने से बच सकता है। साथ ही वह पेमेंट अप्रूवल साइकिल में जाया होने वाले समय की भी इससे बचत होती है। आईआरसीटीसी ई-वॉलेट अकाउंट चलाने के लिए एक लॉग इन आईडी और पासवर्ड की जरूरत पड़ती है। खास बात है कि इसकी मदद से यूजर को बैंक, मोबाइल ई-वॉलेट जैसे अन्य पेमेंट चैनल्स पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है।

ऐसे करें रजिस्टरः आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर सबसे पहले लॉग इन करें। फिर ई-वॉलेट सेक्शन में आईआरसीटीसी ई-वॉलेट लिंक पर जाएं, जहां ‘प्लान माइ ट्रैवल पेज’ को चुनें। अब आधार व पैन से इस अकाउंट को वेरिफाई करना पड़ेगा, जिसके आगे 50 रुपए का शुल्क देना होगा। यह शुल्क एक ही बार लिया जाएगा। यूजर को इसके बाद कम से कम 100 रुपए इस ई-वॉलेट में डालने होंगे। आईआरसीटीसी सभी यूजर्स को सलाह देता है कि टिकट बुकिंग के हिसाब से ही वे इस ई-वॉलेट में टॉप-अप (पैसे ट्रांसफर) करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 क्या होती है Aadhaar KYC? जानिए इसका तरीका और फायदा