ताज़ा खबर
 

IRCTC: लॉकडाउन के दौरान ट्रेन का टिकट बुक किया था? रेलवे ने जारी किया रिफंड, जांच लें खाते में पैसा आया या नहीं

IRCTC Trains Ticket Booking and refund: रिफंड 21 मार्च से 31 मई के टाइम पीरियड के दौरान ऑनलाइन मोड के जरिए बुक हुए टिकट पर जारी किया गया है। रिफंड आरक्षित टिकटों के लिए जारी किया गया है।

salary cut

IRCTC Trains Ticket Booking and refund: लॉकडाउन के दौरान ट्रेन टिकट बुक करवाने वाले यात्रियों को रेलवे ने रिफंड जारी कर दिया है। रेलवे ने बुधवार को जानकारी दी है कि रेलवे की तरफ से 1,885 करोड़ रुपये का रिफंड जारी कर दिया गया है। ये रिफंड 21 मार्च से 31 मई के टाइम पीरियड के दौरान ऑनलाइन मोड के जरिए बुक हुए टिकट पर जारी किया गया है। रिफंड आरक्षित टिकटों के लिए जारी किया गया है।

रेलवे के मुताबिक जिन बैंक खातों से ऑनलाइन टिकट बुकिंग हुई थी रिफंड उसी में ट्रांसफर किया गया है। भारतीय रेलवे ने 13 मई को घोषणा की थी कि 30 जून तक ‘श्रमिक स्पेशल ट्रेनों’ के अलावा सभी नियमित ट्रेनों की पुरानी बुकिंग रद्द कर दी जा रही है और लॉकडाउन पीरियड के लिए बुक किए गए टिकटों के लिए भी रिफंड दिया जाएगा।’

रेलवे के मुताबिक वे यात्री जिनमें कोरोना के लक्षण थे और यात्रा करने से रोक लिए गए उन्हें भी रिफंड जारी किया जाएगा। देश में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए रेलवे ने देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान अपनी नियमित यात्री ट्रेन सेवाओं को निलंबित कर दिया था।

वहीं रेलवे ने दिल्ली से श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया है। रेलवे ने यह फैसला राज्यों की तरफ से मांग न होने के चलते लिया है। रेलवे के मुताबिक दिल्ली से आखिरी श्रमिक स्पेशल ट्रेन का संचालन 31 मई को किया गया है। 31 मई को अंतिम तीन ट्रेनों का संचालन किया गया। मालूम हो कि कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच रेलवे लगातार ट्रेनों की संख्या में बढ़ोत्तरी कर रहा है जिससे यात्रियों को राहत मिल सके।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अब रोज भेज सकेंगे फ्री अनलिमिटेड SMS, TRAI ने डेली लिमिट की खत्म
2 Ration Card के लिए अप्लाई करने का ये है तरीका, चुटकियों में होगा काम
3 LIC Jeevan Anand पॉलिसी में रोजाना 129 रुपये का निवेश कर पाएं 66 लाख, साथ में 15 लाख का रिस्क कवर!