ताज़ा खबर
 

IRCTC: रिजर्वेशन अगेंस्ट कैंसिलेशन (RAC) टिकट कैंसल कराने पर हमेशा नहीं मिलता रिफंड, ये हैं पूरे नियम

आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार आरएसी टिकट तकनीकी तौर पर कन्फर्म टिकट होता है लेकिन इसमें बर्थ वेटिंग में मिलती है। यह यात्रा तो सुनिश्चित करता है लेकिन पूरी बर्थ की गारंटी नहीं देता है। एक बर्थ को 2 आरएससी टिकट वाले यात्रियों के बीच बांट दिया जाता है।

इस फोटो का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) अपनी वेबसाइट irctc.co.in के जरिये ऑनलाइन रेल टिकट बुक करने की सुविधा देता है। टिकट बुक करने के दौरान अगर सभी कन्फर्म बर्थ बिक जाती हैं तो यात्री को रिजर्वेशन अगेंस्ट कैंसिलेशन (आरएसी) टिकट मिल सकता है। आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार आरएसी टिकट तकनीकी तौर पर कन्फर्म टिकट होता है लेकिन इसमें बर्थ वेटिंग में मिलती है। यह यात्रा तो सुनिश्चित करता है लेकिन पूरी बर्थ की गारंटी नहीं देता है। एक बर्थ को 2 आरएससी टिकट वाले यात्रियों के बीच बांट दिया जाता है। अगर कोई यात्री अपना कन्फर्म रिजर्वेशन टिकट कैंसल करता है या ट्रेन के प्रस्थान करने तक नहीं पहुंचता है तो आरएसी टिकट वाले यात्री को पूरी सीट दी जाती है। अगर ट्रेन के छूटने के आखिरी पलों में अन्य यात्रियों में से किसी का कन्फर्म टिकट कैंसल या अपग्रेड होता है तो आरएसी टिकट वाले यात्री को पूरी बर्थ मिल जाती है। आरएसी टिकट कैंसल कराने पर हमेशा पूरा रिफंड नहीं मिलता है।

1. आईआरसीटीसी के नियमों के मुताबिक ट्रेन छूटने के निर्धारित समय से 30 मिनट पहले तक आरएसी टिकट को कैंसल कराया जा सकता है। अगर इस अवधि के बाद टिकट कैंसल कराया जाता है तो कोई रिफंड नहीं मिलता है। ऑनलाइन आरएसी टिकट के लिए अगर रिजर्वेशन चार्ट तैयार हो चुका होता है तो रिफंड पाने के लिए ट्रेन डिपॉजिट रसीद (टीडीआर) फाइल करनी होती है।

2. एक साथ टिकट बुक कराने यानी फैमिली या पार्टी ई-टिकट के मामले में टिकट में कुछ यात्रियों का रिजर्वेशन कन्फर्म है और कुछ का आरएसी या वेटिंग में है तो टिकट कैंसल करने पर कुछ कलर्केज चार्ज कटकर पूरा रिफंड मिल जाता है। ध्यान रहें कि रिफंड के लिए यात्री को ट्रेन के प्रस्थान करने के निर्धारित समय से 30 मिनट पहले तक ऑनलाइन टिकट कैंसल करना होता है और टीडीआर भी फाइल करना होता है।

बता दें कि नियमों के तहत टिकट कैंसल होने पर रिफंड की राशि उसी बैंक अकाउंट में पहुंच जाती है जिसका इस्तेमाल टिकट बुक करने के लिए किया गया हो। यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए आईआरसीटीसी लगातार अपनी वेबसाइट को यूजर फ्रेंडली बना रहा है और रतीय रेलवे नियमों में आवश्यकतानुसार संशोधन पर ध्यान दे रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App