X

IRCTC की सर्विस समझ इन साइट्स से तो नहीं बुक कर रहे खाना? जानें खाना मंगाने का सही तरीका

IRCTC: ऑनलाइन ढेरों साइट्स या ऐप मौजूद हैं, जो रेल सफर के बीच खाना मुहैया कराते हैं। पर कई बार उनके खाने को लेकर शिकायतें आती हैं। ऐसे में यात्री उसे रेलवे की सेवा समझ उसकी शिकायत आईआरसीटीसी से करते हैं, जबकि सच्चाई कुछ और ही होती है।

इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) की सेवा समझकर यात्री ज्यादातर जिन वेबसाइट्स या मोबाइल ऐप्स से खाना मंगाते हैं, वह आईआरसीटीसी के नहीं होते हैं। रविवार (16 सितंबर) को आईआरसीटीसी ने इस बारे में यात्रियों को सोशल मीडिया के जरिए नसीहत दी। ट्वीट कर कहा गया, “ट्रैवल खाना और रेल यात्री सरीखी अनाधिकृत वेबसाइट्स से यात्रियों के खाना मंगाने पर उसकी गुणवत्ता, मात्रा और डिलीवरी को लेकर की गई शिकायतों पर आईआरसीटीसी की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।”

आईआरसीटीसी ने इस ट्वीट के साथ एक तस्वीर भी पोस्ट की थी। उसमें दर्शाया गया कि ट्रैवल खाना और रेल यात्री आईआरसीटीसी के एग्रीगेटर नहीं है। यात्रियों से इसी के साथ अपील की गई कि वे फूड ऑन ट्रैक मोबाइल ऐप या फिर www.ecatering.irctc.co.in के जरिए ही सफर में खाना मंगाएं। आपको बता दें कि ऑनलाइन ढेरों साइट्स या ऐप मौजूद हैं, जो रेल सफर के बीच खाना मुहैया कराते हैं। पर कई बार उनके खाने को लेकर शिकायतें आती हैं। ऐसे में यात्री उसे रेलवे की सेवा समझ उसकी शिकायत आईआरसीटीसी से करते हैं, जबकि सच्चाई कुछ और ही होती है।

इन साइट्स या ऐप से आईआरसीटीसी का नहीं है लेना-देनाः रेल यात्री, रेल रसोई, खाना गाड़ी, खाना ऑनलाइन, फूड इन ट्रेन, फूड ऑन व्हील, ट्रैवल जायका, ट्रेन फूड, ट्रैवल फूड और ई-रेल आदि।

ऐसे मंगाएं फूड ऑन ट्रैक से खाना: यात्री को सबसे पहले ecatering.irctc.co.in साइट पर जाना होगा, जहां उसे पैसेंजर नेम रिकॉर्ड (पीएनआर) नंबर भरना पड़ेगा। फिर ड्रॉप मीन्यू में उसे रेलवे स्टेशंस की सूची में अपना स्टेशन बताना होगा। आगे वेंडर मीन्यू और खाने के दाम सामने आएंगे। अब जिस वेंडर से खाने में जो भी मंगाना हो, उसे चुनें। आगे पेमेंट का तरीका पूछा जाएगा, जिसके बाद ऑर्डर कन्फर्म होगा।

मेल-मैसेज पर आएगा ऑर्डर का ब्यौराः ट्रांजैक्शन पूरा होने के बाद यात्री के पास ई-मेल और मैसेज भी आएगा, जिसमें ऑर्डर का ब्यौरा होगा। वेरिफिकेशन के लिए यात्री के नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा। यात्री को इसके बाद खाने की डिलीवरी के दिए गए समय से दो घंटे पहले एक और मेल और मैसेज आएगा।

ऐप से यूं कीजिए खाने की बुकिंगः ऐप स्टोर से फूड ऑन ट्रैक डाउनलोड करें। आगे पीएनआर नंबर डालेंगे, तो आपके सफर के दौरान जिन स्टेशंस पर जो वेंडर और खाना उपलब्ध होगा, उसकी सूची आ जाएगी। अब वेंडर व खाना चुनें और ऑर्डर करें। पेमेंट में कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प भी होगा। आगे आपके डीटेल कन्फर्म की जाएंगी, जहां नाम, नंबर, कोच व सीट नंबर की जानकारी देनी पड़ेगी।

ये भी हैं खाना मंगाने के विकल्पः अगर आप टेक्नोफ्रेंडली नहीं हैं या फिर किन्हीं कारणों से सफर पर ऑनलाइन खाना नहीं मंगा सकते, तो आपके पास दो और विकल्प हैं। पहला- 1323 पर कॉल कर खाना मंगाया जा सकता है, जबकि दूसरे तरीके में 139 पर मैसेज में MEAL <PNR> भेजकर खाने का ऑर्डर दिया जा सकता है। यात्री ऑर्डर कैंसल भी कर सकेंगे, पर यह काम प्रस्तावित डिलीवरी से दो घंटों से पहले होना चाहिए। वहीं, उसका रिफंड आने में तीन-चार दिन लगेंगे।

  • Tags: irctc, Utility News,
  • Outbrain
    Show comments