ताज़ा खबर
 

25 हजार से एक लाख रुपये के बीच है सैलरी तो ऐसे समझदारी से करें निवेश, भविष्य की चिंता होगी दूर

वैसे कर्मचारी जिनका वेतन 50 हजार रुपये प्रतिमाह है, वे उन्हें 10 से 15 प्रतिशत इंश्योरेंस, पीएफ के अलावा इनवेस्ट करना चाहिए। करीब 1 करोड़ रुपये कवर का टर्म इंश्योरेंस लेना चाहिए।

Author Updated: March 18, 2019 7:54 AM
अपने वेतन के कुछ हिस्से को समझदारी से निवेश करें।

नौकरीपेशा लोगों को प्रत्येक महीने एक निश्चित वेतन मिलता है। करीब प्रत्येक साल उनके वेतन में वृद्धि भी होती है। हालांकि, उनके सामने एक बड़ी समस्या यह आती है कि वे अपने वेतन का कुछ हिस्सा किस तरह निवेश करें ताकि भविष्य में या किसी आपात स्थिति में उन्हें परेशानी न हो। कोई उन्हें रियल इस्टेट में निवेश करने की सलाह देते हैं तो कोई इंश्योरेंस पॉलिसी या शेयर में। आज हम आपको बता रहे हैं कि यदि आपकी सैलरी 25 हजार से एक लाख रुपये के बीच है तो आप कहां निवेश करें ताकि भविष्य की चिंता दूर हो सके। किसी आपात स्थिति में भी आपको ज्यादा परेशानी न हो।

यदि आपका वेतन 25 हजार रुपये है और आप शादीशुदा के साथ-साथ एक बच्चे के पिता है तो आपको अपने प्रत्येक महीने खर्च के बाद काफी कम रकम निवेश को बचती है। ऐसे में जरूरी है कि आप समझदारी के साथ निवेश करें।
– सबसे पहला काम ये करें कि एक इंश्योरेंस प्लान ले लें। आप 50 लाख रुपये से 1 करोड़ का टर्म इंश्योरेंस ले सकते हैं।
– एक फैमली मेडिकल इंश्योरेंस प्लान भी जरूरी है ताकि यदि परिवार के किसी सदस्य की तबीयत खराब हो तो घर का बजट न खराब हो। वजह ये है कि इस बढ़ती महंगाई में स्वास्थ्य सुविधाएं भी काफी महंगी हो गई गई है। बीमारी में इतनी तेजी से पैसे खर्च होते हैं कि साधारण परिवार के लोगों को यह समझ में नहीं आता है कि कहां से पैसों का इंतजाम करें।

– sip लंबे समय के लिए निवेश का अच्छा साधन है। इसकी शुरूआत मात्र 500 रुपये प्रति महीने से भी की जा सकती है।
– यदि आप सिंगल हैं और परिवार की किसी तरह की जिम्मेदारी नहीं है तो आप अपने वेतन का 20 से 30 प्रतिशत हिस्सा डेब्ट और एक्विटी में इनवेस्ट कर सकते हैं।

50,000 रुपये प्रतिमाह वेतन: वैसे कर्मचारी जिनका वेतन 50 हजार रुपये प्रतिमाह है, वे उन्हें 10 से 15 प्रतिशत इंश्योरेंस, पीएफ के अलावा इनवेस्ट करना चाहिए।
– करीब 1 करोड़ रुपये कवर का टर्म इंश्योरेंस लेना चाहिए।
– खुद और परिवार के लिए एक मेडिकल इंश्योरेंस जरूर लेना चाहिए।
– यदि कुछ समय के लिए निवेश करना है तो फिक्सड डिपॉजिट में निवेश कर सकते हैं। वहीं, लॉग टर्म के लिए एसआईपी एक अच्छा माध्यम है।

1 लाख रुपये वेतन प्रतिमाह: मेट्रो सिटी में रहने वाले लोगों या फिर सरकारी व प्राइवेट सेक्टर में उच्च पदों पर कार्यरत लोगों का वेतन ही एक लाख रुपये प्रतिमाह या उससे उपर होता है। वैसे लोगों की जीवनशैली भी उसी तरह की होती है। ये लोग अपनी गाड़ी, घर व महंगे सामान रखते हैं। इन सब के बावजूद इन लोगों को अपने वेतन का 20 प्रतिशत हिस्सा भविष्य के लिए निवेश करना चाहिए।

– एक करोड़ या उससे अधिक का टर्म इंश्योरेंस लेना चाहिए।
– खुद और परिवार के लिए मेडिकल इंश्योरेंस लेना चाहिए।
– डिसेबिलिटी इन्योरेंस लेना चाहिए। इसके तहत किसी भी तरह की गंभीर बीमारी या दुर्घटना की वजह से अपंगता की स्थिति में कवर मिलता है।

– आपात स्थिति को ध्यान में रखते हुए करीब तीन महीनों का इमरजेंसी फंड रखना चाहिए।
– म्यूचुअल फंड, बॉन्ड्स, पीएफ, एनसीडी और फिक्स डिपॉजिट में निवेश करना चाहिए।
– छुट्टियां मनाने, विलासिता संबंधी चीजें खरीदने या महंगे कार खरीदने के लिए लोन लेने से बचना चाहिए।
– अपने ईएमआई के साथ बैलेंस बना कर चलें। यदि पहले से एक घर है तो दूसरा तब तक खरीदने से बचना चाहिए जब तक कि पहले घर का ईएमआई पूरा न हो जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 VISA कार्ड यूज करते हैं तो खुशखबरी, ऐसे उठाएं बंपर डिस्‍काउंट और कैशबैक का फायदा
2 IRCTC: रेल टिकट पर 53 कैटेगरीज में ले सकते हैं छूट, जानिए पूरी डिटेल्‍स
3 7th Pay Commission: कर्मचारियों को कितना महंगाई भत्‍ता देना है, सरकार ऐसे करती है तय