Indian Rupees: How to exchange torn, soiled currency notes? From RBI guidelines to procedure to follow, check details - अपनी नजदीकी बैंक में बदल सकते हैं कटे-फटे और मैले नोट, जान लें पूरे नियम - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अपनी नजदीकी बैंक में बदल सकते हैं कटे-फटे और मैले नोट, जान लें पूरे नियम

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 2018 की शुरुआत में कटे-फटे और मैले नोट बदलने के लिए एक सर्कुलर जारी कर गाइडलाइंस बताई थीं। आरबीआई के दिशानिर्देशों के मुताबिक आप देश की सभी बैंकों की सभी शाखाओं में नोट बदलने के लिए ग्राहक सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

फोटो साभार: आरबीआई वेबसाइट

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 2018 की शुरुआत में कटे-फटे और मैले नोट बदलने के लिए एक सर्कुलर जारी कर गाइडलाइंस बताई थीं। आरबीआई के दिशानिर्देशों के मुताबिक आप देश की सभी बैंकों की सभी शाखाओं में नोट बदलने के लिए ग्राहक सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं। बैंक सभी मूल्यवर्ग के नोट बदलती है। इनमें 5 रु. से लेकर 2000 रु. तक का नोट हो सकता है। नियमों के तहत बैंक कटे-फटे या मैले नोटों को नए और अच्छी गुणवत्ता वाले नोटों से बदलती है। यह बात हर मूल्यवर्ग के सिक्कों के लिए भी लागू है। गाइडलाइंस के मुताबिक बैंक की कोई भी शाखा इस तरह के नोटों या सिक्कों के लेनदेन या उनके बदले जाने को अस्वीकार नहीं कर सकती है। कौन से नोट कटे-फटे या मैले माने जाएंगे: नोट अगर साधारण कटे-फटे, मैले हैं या एक ही नोट के दो हिस्से हैं और उन पर अंकित जरूरी फीचर स्पष्ट हो रहे हैं तो उन्हें बदला जा सकता है, उनसे किसी प्रकार का सरकारी भुगतान किया जा सकता है या फिर खाते में क्रेडिट कराया जा सकता है।

नोटों की हालत अगर बदतर है, मसलन वे एकदम सड़ से गए हैं, जले या बुरी तरह झुलसे हुए हैं या चिपके हुए हैं और सामान्य तौर पर उनकी हैंडलिंग नहीं की जा सकती है तो फिर उन्हें किसी भी शाखा से नहीं बदला जा सकता है। ऐसे नोट वाले को सलाह दी जाती है कि वे उन्हें जारी किए जाने वाले कार्यालय से संपर्क करे जहां एक विशेष प्रकिया के तहत उन पर फैसला लिया जाएगा। प्रॉसेस: अगर किसी के पास कटे-फटे या मैले नोट 20 टुकड़ों में हैं और उनका मूल्य अधिकतम 5000 रुपये के बराबर बैठता है तो वह एक दिन में इतने नोट बैंक के काउंटर पर नि:शुल्क बदल सकता है।

अगर किसी के पास 20 से ज्यादा टुकड़ों में नोट हैं और उनका मूल्य 5000 रुपये से बाहर जा रहा है तो वह उन्हें बदलने के लिए बैंक जा सकता है लेकिन उनका मूल्य बाद में क्रेडिट किया जाएगा। इसके लिए बैंक स्वीकृत शुल्क भी वसूल सकती है। अगर ऐसे नोटों का मूल्य 50 हजार रुपयों से ज्यादा है तो बैंक सामान्य सावधानी बरतेगी। किसी नोट पर किसी तरह का कोई राजनीतिक संदेश या नारा लिखे होने की सूरत में उसे नहीं बदला जा सकेगा। किसी नोट को विकृत किए जाने पर भी उसे नहीं बदला जा सकेगा। अगर नोट को जानबूझकर काटा-फाड़ा या गंदा किया हुए पाया जाता है तो आरबीआई के नियम के मुताबिक उससे न तो भुगतान संभव होगा और न ही उसे बदला जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App