टिकटों में रियायत नहीं देगा Indian Railways IRCTC: रेल मंत्री बोले- छूट बहाल कर पाना फिलहाल व्यवहार्य नहीं

रेलवे ये छूट 60 से अधिक उम्र के पुरुष और 58 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को देती थी। वहीं कोरोना काल से पहले तक राजधानी, शताब्दी, दूरंतो समेत सभी मेल एक्सप्रेस ट्रेनों में पुरुषों को बेस फेयर में 40 फीसदी और महिलाओं को बेस फेयर में 50 फीसदी की छूट दी जाती थी।

Indian Railways, IRCTC, Fare Rebate,
फिलहाल रेलवे में सीनियर सिटीजन को नहीं मिलेगी छूट।

सरकार ने संसद को सूचित किया है कि कोविड महामारी शुरू होने के बाद रेल टिकटों में दी जाने वाली रियायत या छूट रोक दी गई थी और फिलहाल उसे बहाल कर पाना व्यवहार्य नहीं है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने एक प्रश्न के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि रेल टिकटों में दी जाने वाली रियायत या छूट बहाल करने के लिए कई आवेदन मिले हैं। उन्होंने बताया ‘‘कोविड महामारी और कोविड प्रोटोकॉल को देखते हुए 20 मार्च 2020 से दिव्यांगजन की चार श्रेणियों और मरीजों तथा विद्यार्थियों की 11 श्रेणियों को छोड़ कर सभी श्रेणी के यात्रियों के लिए रेल टिकटों में दी जाने वाली रियायत या छूट को वापस ले लिया गया था।’’

वैष्णव ने बताया ‘‘विभिन्न वर्गों से रेल टिकटों में दी जाने वाली रियायत या छूट को बहाल करने के लिए अनुरोध, आवेदन और सुझाव मिले । इस मामले पर गौर किया गया लेकिन रियायत या छूट बहाल करना फिलहाल व्यवहार्य नहीं पाया गया।’’

सीनियर सिटीजन को कितनी मिलती थी छूट? कोरोना से पहले भारतीय रेलवे ट्रेनों में सीनियर सिटीजन को 50 फीसदी तक की रियायत मिलती थी। रेलवे ये छूट 60 से अधिक उम्र के पुरुष और 58 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को देती थी। वहीं कोरोना काल से पहले तक राजधानी, शताब्दी, दूरंतो समेत सभी मेल एक्सप्रेस ट्रेनों में पुरुषों को बेस फेयर में 40 फीसदी और महिलाओं को बेस फेयर में 50 फीसदी की छूट दी जाती थी।

54 श्रेणियों में मिलती थी रेलवे में छूट – फाइनेंशियल ईयर 2019-20 में किरायों में छूट से होने वाला नुकसान 2,059 करोड़ रुपये था और कोरोना महामारी के दौरान कई तरह की छूट निलंबित किए जाने से पिछले वित्त वर्ष में नुकसान घटकर 38 करोड़ रुपये तक पहुंच गया। उल्लेखनीय है कि कोविड काल से पहले रेलवे रेल टिकटों में 54 श्रेणियों में रियायत या छूट देती थी।

यह भी पढ़ें: क्रिसमस, नए साल पर घर जाने वालों को नहीं होगी दिक्कत, Indian Railway IRCTC चलाने जा रहा कुछ और स्‍पेशल गाड़ियां

11 श्रेणियों में अभी मिल रही है छूट – रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के अनुसार कोरोना काल में भी रेलवे 11 श्रेणियों में यात्रियों को छूट दे रही है। जिसमें रेलवे दिव्यांगजनों की चार श्रेणियों, रोगियों और छात्रों सहित 11 श्रेणियों छूट प्रदान कर रही है।

(इनपुट: भाषा/पीटीआई के साथ)

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।