scorecardresearch

Premium

Indian Railways: पीएनआर के 10 अंकों का क्‍या होता है मतलब, हर नंबर देता है यात्रा की अहम जानकारी

क्‍या आप जानते हैं कि पीएनआर में दर्ज किए गए 10 अंकों का क्‍या मतलब होता है? ये नंबर्स जोन से लेकर ट्रेन नंबर, डेट ऑफ़ जर्नी, डिस्टेंस आदि की जानकारी देता है।

Indian Railways | PNR Status | Railways News
टिकट पर लिखे हुए PNR के बारे में जानिए पूरी डिटेल (फोटो- erail & File)

भारतीय रेलवे से सफर करना आरमदायक माना जाता है। लंबी दूरी से लेकर कम दूरी के लिए भी रेल से सफर करना ज्‍यादा सुविधाजनक होता है। वहीं सफर को आसान बनाने के लिए रेलवे की ओर से यात्रियों को कई सुविधा दी जाती है, जिसमें से ऑनलाइन रेल टिकट बुकिंग भी शामिल है। कोविड के बाद से ज्‍यादातर लोग ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक कर रहे हैं। टिकट बुक होने के बाद एक 10 अंकों को पीएनआर नंबर जारी किया जाता है, लेकिन क्‍या आप जानते हैं, इसमें लिखे नंबरों का क्‍या मतलब होता है और यह कैसे काम करता है? अगर नहीं जानते हैं तो आइए इसके बारे में विस्‍तार से जानते हैं।

Continue reading this story with Jansatta premium subscription
Already a subscriber? Sign in

क्‍या होता है PNR?
पीएनआर यानी कि पैसेंजर नेम रिकॉर्ड, यह 10 डिजिट का नंबर होता है। इस 10 डिजिट के नंबर में आपकी पूरी जानकारी छुपी होती है। रेलवे के पब्लिक रिलेशन ऑफिसर ने बताया कि PNR में शुरू की तीन डिजिट आप यात्रा कहां से करने जा रहे हैं, इस बारे में बताता है। आइए जानते हैं और क्‍या-क्‍या होती है इसमें जानकारियां?

  • 10 अंक के पैसेंजर नेम रिकॉर्ड (PNR) एक यूनिक नंबर होता है, जिसमे यात्री की पूरी डिटेल की जानकारी होती है।
  • PNR की शुरू की 3 डिजिट इस बारे में जानकारी देता है कि किस PRS (पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम) से टिकट बुक हुआ है। इन 3 डिजिट से इस बात की जानकारी होती है कि पैसेंजर का रिजर्वेशन कौन से जोन से किया गया है।
  • अगर मुंबई पीआरएस के तहत CR, WR और WCR जोन से टिकट बुक किया गया है तो इसका PNR 8 & 9 से शुरू होगा। जैसे- राजधानी एक्सप्रेस में कोई टिकट मुंबई से दिल्ली की बुक हुई है, जिसके शुरू का स्टेशन मुंबई है तो PNR 8 से शुरू होगा। इसी तरह, 1 – SCR जोन (सिकंद्राबाद PRS); 2, 3 – NR, NCR, NWR, व NER जोन (नई दिल्‍ली PRS); 4, 5 – SR, SWR व SCR जोन (चेन्‍नई PRS); 6, 7 – NFR, ECR, ER, EcoR, SER व SECR जोन (कोलकात्ता PRS) की जानकारी देता है।
  • PNR की अगली 7 डिजिट में ट्रेन नंबर, डेट ऑफ़ जर्नी, डिस्टेंस के साथ ही जर्नी करने वाले एडल्टस व चिल्ड्रन की जानकारी देता है। यह ऑटोमैटिक अपके जानकारी देने के अनुसार ही जनरेट होता है।
  • इसके अलावा आप किस क्लास में सफर करेंगे। आपका प्रारंभिक व आखिरी स्टेशन कौन-सा होगा। किस स्टेशन से आपने रिजर्वेशन करवाया है यह डिटेल भी मेंशन होती है।

क्‍या कर सकते हैं काम
PNR नंबर से कन्फर्म स्टेटस का पता लगाया जा सकता है। इसके साथ ही वेटिंग लिस्ट, अमाउंट, डेट व टिकट लेने का टाइम की भी जानकारी होती है। साथ ही इससे ट्रांजेक्शन डिटेल (ट्रांजेक्शन आईडी, पेमेंट मोड, टिकट चार्ज) की जानकारी होती है।

कहां पर चेक कर सकते है पीएनआर स्‍टेटस
कोई भी पैसेंजर रेलवे की वेबसाइट indianrail.gov.in के जरिए या आईआरसीटीसी ऐप या वेबसाइट पर जाकर आपना पीएनआर स्टेटस चेक कर सकता है। सभी मेजर स्टेशन पर पीएनआर चेकिंग काउंटर भी अवेलेबल होते हैं। प्राइवेसी व सिक्युरिटी के चलते पीएनआर की डिटेल जनरल नही की जाती। IRCTC पीएनआर स्टेटस को अपडेट करता है।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X