Indian Railways, IRCTC: ट्रेन से सफर करना है तो जान लें ये गाइडलाइन, वर्ना पछताना पड़ेगा!

राजस्थान में ट्रैवल करने के लिए ऐसे यात्रियों को कोई मनाही नहीं है जिन्होंने वैक्सीन की पहली डोज ले ली है। हालांकि शर्त यह है कि वैक्सीन की पहली डोज लिए 28 दिन बीत चुके हों।

Corona Vaccine, vaccine Certificate,
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है

कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर की संभावनाएं लगातार बनी हुई हैं। ऐसे में कुछ राज्यों ने इसका मुकाबला करने के लिए ट्रेन यात्रा पर नए प्रतिबंध लगाना शुरू कर दिया है। वहीं कुछ राज्य ऐसे हैं जहां पर ट्रैवल करने के लिए यात्रियों को कोविड नेगेटिव रिपोर्ट की जरूरत नहीं।

यात्रियों ने अगर कोरोनावायरस वैक्सीन की पहली खुराक ली है तो पंजाब और चंडीगढ़ में प्रवेश करने के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट की जरूरत नहीं है। हालांकि, एक कोविड टीकाकरण प्रमाणपत्र ले जाना अनिवार्य है।

रेलवे ने शुरू की ये स्पेशल ट्रेन, इन यात्रियों को भी बड़ी सौगात

वहीं राजस्थान में ट्रैवल करने के लिए ऐसे यात्रियों को कोई मनाही नहीं है जिन्होंने वैक्सीन की पहली डोज ले ली है। हालांकि शर्त यह है कि वैक्सीन की पहली डोज लिए 28 दिन बीत चुके हों। ऐसे यात्रियों को राज्य आगमन पर कोविड टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं।

बात करें नागालैंड की तो टीका लगाए गए व्यक्तियों को आगमन से 72 घंटे पहले आरटी-पीसीआर कोविड टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है। हालांकि, Indian Railway यात्रियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि उन्हें वैक्सीन की पहली डोज लिए हुए कम से कम 15 दिन बीत चुके हों।

बात करें ओडिशा की तो पूरी तरह से वैक्सीनेटेड यात्रियों को ही बिना आरटी-पीसीआर टेस्ट के ही राज्य में दाखि होने दिया जा रहा है। कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट के अलावा यात्रियों को नेगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट भी साथ रखनी होगी। हिमाचल में 13 अगस्त से राज्य में प्रवेश करने के लिए एक कोविड नेगेटिव रिपोर्ट या दोनों वैक्सीन डोज सर्टिफिकेट को अनिवार्य कर दिया गया है।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट