Indian Railways IRCTC: नौ अक्टूबर तक ये ट्रेनें कैंसल, जानें- कौन सी गाड़ी किस दिन नहीं चलेगी?

Indian Railways IRCTC canceled Trains List: पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार मंडल में रेलवे ट्रैक पर नॉन इंटरलॉकिंग के कारण इन ट्रेनों को कैंसल किया गया है।

indian railways, irctc, utility news
रेलवे ट्रैक से गुजरती ट्रेन। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः पार्था पॉल)

Indian Railways IRCTC canceled Trains List: भारतीय रेल ने सोमवार (चार अक्टूबर, 2021) से शनिवार (नौ अक्टूबर, 2021) तक के लिए अलग-अलग तिथियों में कई ट्रेनों को कैंसल कर दिया है। रद्द की गई सभी 22 गाड़ियां दिल्ली-हावड़ा (पश्चिम बंगाल) रूट पर चलती हैं, जो इस दौरान नहीं दौड़ेंगी। हालांकि, पहले से सीट बुक (एडवांस रिजर्वेशन) करा चुके यात्री अपने टिकट के पैसे का रिफंड पा सकेंगे, जबकि आगे की डेट में टिकट को भी मॉडिफाई (यात्रा की तारीख बदल पाएंगे) किया जा सकेगा।

कैंसल ट्रेनों का ब्यौरा इस प्रकार है:
छह और सात अक्टूबर – 02549 कामाख्या एक्सप्रेस
5 और छह अक्टूबर – 02550 कामाख्या एक्सप्रेस
छह और सात अक्टूबर – 05955 दिल्ली एक्सप्रेस
चार और पांच अक्टूबर – 05956 दिल्ली एक्सप्रेस
पांच अक्टूबर – 04075 नाहरलागुन एक्सप्रेस
छह अक्टूबर – 05668 गांधीधाम एक्सप्रेस
तीन अक्टूबर – 05631 बाड़मेर एक्सप्रेस
सात अक्टूबर – 05632 गुवाहाटी बाड़मेर एक्सप्रेस
चार अक्टूबर – 09709 उदयपुर एक्सप्रेस
सात अक्टूबर- 09710 उदयपुर कामाख्या एक्सप्रेस
छह अक्टूबर – 05633 बीकानेर एक्सप्रेस
नौ अक्टूबर – 05634 बीकानेर एक्सप्रेस
छह अक्टूबर – 05645 एलटीटी
नौ अक्टूबर- 05645 एलटीटी कामाख्या एक्सप्रेस
छह अक्टूबर – 04031 गुवाहाटी मेल
छह अक्टूबर – 02502 अगरतला एक्सप्रेस
चार अक्टूबर – 02501 अगरतला एक्सप्रेस
चार अक्टूबर – 04037 सिल्चर नई दिल्ली एक्सप्रेस
सात अक्टूबर – 04038 सिल्चर एक्सप्रेस
सात अक्टूबर – 01665 हबीबगंज एक्सप्रेस

इन रद्द ट्रेनों के बारे में विस्तृत जानकारी आप रेलवे की वेबसाइट पर भी पा सकते हैं। आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार मंडल में रेलवे ट्रैक पर नॉन इंटरलॉकिंग के कारण इन ट्रेनों को कैंसल किया गया है। वैसे, इस बारे में हर रेलवे स्टेशंस के आरक्षण केंद्र प्रभारियों को सूचना दे दी गई है।

‘5 साल में शुरू हुई 813 नई गाडियां’: भारत सरकार द्वारा वर्ष 2016 में रेल बजट को आम बजट के साथ मिलाने और राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर के एक बार में नयी रेलगाड़ियों की घोषणा की परंपरा को समाप्त करने बाद से अब तक रेलवे ने करीब 800 नयी रेलगाड़ियां चलाई है। यह खुलासा सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मिले जवाब में हुआ है। मध्य प्रदेश के रहने वाले चंद्र शेखर गौड़ के आरटीआई आवेदन पर रेलवे बोर्ड द्वारा दिए गए जवाब के मुताबिक वर्ष 2020-21 में कोविड-19 महामारी के चलते कोई नयी रेलगाड़ी नहीं चलाई क्योंकि इसकी वजह से सामान्य सेवाओं को भी स्थगित करना पड़ा था।

रेलवे बोर्ड द्वारा दिए गए जवाब के अनुसार रेलवे ने वित्तवर्ष 2020-21 में कोई नयी ट्रेन नहीं चलाई। लेकिन वर्ष 2019-20 में 144, वर्ष 2018-19 में 266, वर्ष 2017-18 में 170 और वर्ष 2016-17 में 223 नयी रेलगाड़ियों का परिचालन शुरू किया। तत्कालीन रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने वर्ष 2015-16 का रेल बजट पेश करते हुए एक भी नयी रेलगाड़ी शुरू करने या मौजूदा रेलगाड़ियों की सेवा का विस्तार करने की घोषणा नहीं की थी।

यहां दिखेगा सड़क-ट्रेन परिवहन का संगम: उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के इलाहाबाद जोन के महाप्रबंधक प्रमोद कुमार ने रविवार को यहां बताया कि मथुरा से वृन्दावन के लिए जाने वाले मीटर गेज रेलमार्ग पर आने वाले वर्षों में सड़क व रेल परिवहन का संगम दिखाई देगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान मीटर गेज ट्रैक के स्थान पर नीचे सड़क यातायात एवं ऊपर रेल यातायात का संचालन किया जाएगा।

रेलबस के खराब हो जाने से मथुरा-वृन्दावन रेलखण्ड पर लंबे समय से बंद पड़े यातायात के संबंध में पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि रेलवे पहले इस ट्रैक को भी देश के अन्य मीटर गेज़ ट्रैक के समान ही ब्रॉडगेज़ में बदलने की योजना बना रहा था, किंतु उप्र सरकार द्वारा गठित ब्रजतीर्थ विकास परिषद की महत्वाकांक्षी योजना के अनुसार इस रेलखण्ड को धरोहर ट्रैक के रूप में विकसित किए जाने का प्रस्ताव रखने के कारण इस योजना को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। (पीटीआई-भाषा इनपुट्स के साथ)

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट