ताज़ा खबर
 

Indian Railways: ट्रेन में बिजनेस क्‍लास का फील देगी नई तेजस एक्‍सप्रेस, हर सीट पर LCD स्‍क्रीन, USB चार्जिंग प्‍वॉइंट

रेलवे ने साल 2017 में शुरू की गई तेजस एक्सप्रेस को बिजनेस क्लास में अपग्रेड कर दिया है। ये ट्रेन मुंबई से गोवा के बीच शुरू की गई थी। इस ट्रेन में यात्रियों को हवाई जहाज में उड़ान के दौरान मिलने वाली सुविधाओं का अनुभव होगा।

Updated: December 3, 2018 6:04 PM
नई तेजस एक्‍सप्रेस के भीतर का नजारा। फोटो- फाइनेंशियल एक्‍सप्रेस ऑनलाइन

भारतीय रेलवे की एक ट्रेन अब यात्रियों को बिजनेस क्‍लास की सुविधाएं दे रही है। भारतीय रेलवे के यात्रियों के लिए ये सपने के सच होने जैसा है। इस सपने को हकीकत में बदलने का श्रेय इंटीग्रल कोच फैक्ट्री, चेन्नई को जाता है। भारतीय रेलवे अपने यात्रियों को अब ऐसा सुखद अनुभव देने के लिए तैयार है जो उन्होंने देश में इससे पहले कभी नहीं देखा होगा। भारतीय रेलवे की पूर्णत: स्वदेशी और लग्जरी सुविधाओं से लैस ‘तेजस एक्सप्रेस’ जल्दी ही यात्रियों को लेकर पटरी पर दौड़ेगी।

रेलवे ने साल 2017 में शुरू की गई तेजस एक्सप्रेस को बिजनेस क्लास में अपग्रेड कर दिया है। ये ट्रेन मुंबई से गोवा के बीच शुरू की गई थी। इस ट्रेन में यात्रियों को हवाई जहाज में उड़ान के दौरान मिलने वाली सुविधाओं का अनुभव होगा। अगर पिछली तेजस एक्सप्रेस में सीटें लग्जरी बस की सीटों जैसी थीं तो नई तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों को बैठने के लिए एयरलाइन्स की बिजनेस क्लास जैसी सीटें मिलेंगी।

एग्जीक्यूटिव चेयर कार वाले कोच को अपग्रेड करने के बाद बाल्टी के आकार वाली आरामदेह सीटें लगाई गई हैं। कोच में ये सीटें 2+2 ​के संयोजन में होंगी। कोच की क्षमता 56 यात्रियों की होगी। गहरे पीले (बेेज) रंग की सीटें चमड़े जैसे किसी मटेरियल से बनाई गई हैं। इन सीटों में आरामदेह हेडरेस्ट और फुटरेस्ट भी दिया गया है। सिर्फ यहीं नहीं स्नैक टेबल भी सीट के हत्थे के नीचे छिपी हुई होगी। इस सीट को यात्री अपनी सहूलियत के मुताबिक बाहर निकाल सकेंगे।

हर यात्री के सामने और हर सीट के पीछे यात्री को निजी एलसीडी स्क्रीन मिलेगी। इस स्क्रीन के जरिए यात्री अपना पसंदीदा संगीत सुन सकेंगे और फिल्में देख सकेंगे। हर सीट पर यूएसबी चार्जिंग प्वाइंट की भी सुविधा मिलेगी। हर यात्री की सीट पर पढ़ने के लिए लाइट होगी, जिसे यात्री अपने हिसाब से इस्तेमाल कर सकेगा। इसके अलावा कोच सहायक को बुलाने के लिए भी बटन सीट पर ही मिलेगा। हालांकि सोने के लिए यात्री सीट को सीमित लंबाई तक ही खोल सकेंगे। लेकिन फिर भी ये सीटें बहुत हद तक विमान यात्रा के दौरान बिजनेस क्लास में मिलने वाली सीटों जैसी ही होंगी।

नई तेजस एक्सप्रेस में अपने आप खुलने वाले आॅटोमैटिक दरवाजे लगे हुए हैंं। सुसज्जित पैंट्री उपकरण, सीट की ऊंचाई पूर्व में आई तेजस एक्सप्रेस की तुलना में कम होगी। नई तेजस एक्सप्रेस में मॉड्यूलर बायो वैक्यूम टॉयलेट होगी, कोच के भीतर और प्रवेश द्वार के पास सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे। पूरी तरह से भारत में बने हुए बाथरूम में शीशा और उससे एक लाइट भी जुड़ी होगी। बाथरूम में सफाई बनाए रखने के लिए पूरे बाथरूम को विनाइल से लैस किया गया है। नई तेजस एक्सप्रेस 23 कोच की है और इसे दक्षिण रेलवे को सौंपा गया है। ये अत्याधुनिक ट्रेन चेन्नई एगमोर और मदुरई स्टेशन के बीच चलेगी। इस शानदार लग्जरी ट्रेन को 160 किमी/घंटे की रफ्तार तक दौड़ाया जा सकता है।

Next Stories
1 SBI खाते में हो इतना पैसा तो मिलती है अनलिमिटेड एटीएम विदड्रॉल की छूट, जानें क्‍या है शर्तें
2 ये 5 तरह के आएं फोन कॉल तो हो जाएं सावधान, बैंकिंग फ्रॉड से बचाएंगी ये 6 आदतें
3 Indian Oil: बिना एड्रेस प्रूफ खरीदिए गैस सिलिंडर, जानें कहां और कैसे मिलेगा
यह पढ़ा क्या?
X