ताज़ा खबर
 

Indian Railways: 1 जून से चलेंगी 200 नई स्पेशल ट्रेनें, जानें क्या हैं नियम, देखें पूरी लिस्ट

रेलवे के मुताबिक ये 15 जोड़ी श्रमिक स्पेशल और एसी स्पेशल ट्रेनों से अलग होंगी। ट्रेनों के संचालन से पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया है।

प्लेटफॉर्म पर खड़े यात्री (प्रतीकात्मक फोटो)

Indian Railways: कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच इंडियन रेलवे 1 जून से 200 नई स्पेशल ट्रेनें को संचालन करने जा रहा है। इन ट्रेनों के लिए 21 मई को ही ऑनलाइन टिकट बुकिंग शुरू हो चुकी है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए यात्रियों से एहतियात बरतने को कहा गया है। रेलवे के मुताबिक ये 15 जोड़ी श्रमिक स्पेशल और एसी स्पेशल ट्रेनों से अलग होंगी। ट्रेनों के संचालन से पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया है।

गोयल ने ट्वीट में कहा है कि कल (1 जून) से देश भर में 200 स्पेशल ट्रेन शुरु हो रही हैं, नागरिकों का घर जाना और आसान और सुरक्षित होगा। इसके साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में एक इन्फोग्राफिक भी शेयर किया है जिसमें ट्रेन में सफर के दौरान किन नियमों को फॉलो किया जाएगा उसके बारे में जानकारी दी है। रेलवे के मुताबिक यात्रियों को कम से कम 90 मिनट पहले स्टेशन पर पहुंचना होगा।

ट्रेन किराए में किसी भी तरह का केटरिंग शुल्क शामिल नहीं किया गया है। यात्रा के दौरान चादर, कंबल या फिर तकिया नहीं दिया जाएगा। सभी यात्रियों को रेलवे स्टेशनों पर प्रवेश और निकास के समय और साथ ही यात्रा के दौरान फेस कवर या मास्क पहनना होगा।

इन सब के अलावा सभी यात्रियों के फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोडेड होना चाहिए। यात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालना करना होगा। वहीं सिर्फ कन्फर्म या आरएसी टिकट वाले यात्रियों को स्टेशन में आने और ट्रेन पर चढ़ने की अनुमति दी गई है। रेलवे ने एक लिस्ट जारी कर बताया है कि ये स्पेशल ट्रेनें किन-किन स्टेशनों पर रुकेंगी और कहां से कितने बजे चलेंगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Atal Pension Yojna में रोजाना 7 रुपये निवेश कर पा सकते हैं 60 हजार रु पेंशन! जानें क्या है ये पूरी स्कीम
2 Pradhan Mantri Mudra योजना में किस तरह के बिजनेस के लिए लोन मिलता हैं? मांगे जाते हैं ये जरूरी डॉक्युमेंट्स
3 कैशलेस या रीइंबर्समेंट Health Insurance Policy में कौन बेहतर? कन्फ्यूजन में हैं तो जानें इनके फायदे और नुकसान