ताज़ा खबर
 

LIC लाया खास Revival प्लान, लैप्स हो चुकी पॉलिसी दोबारा कराएं शुरू, जानें कैसे

How to do Revival of Lapsed LIC Policies: एलआईसी पॉलिसी लैप्स होने के बाद कानूनी तौर पर पॉलिसी होल्डर के पास उसे रिवाइव/एक्टिव कराने के लिए दो साल का वक्त होता है।

LIC Revival of Lapsed Policies, Revival of Lapsed LIC Policies, Lapsed LIC Policies, Revival of Lapsed Policies, LIC, Life Insurance of India, India News, India News, National News, Breaking News, Hindi News, एलआईसी, भारतीय जीवन बीमा निगम, बीमा, एक्टिव, पॉलिसी, यूटीलिटी न्यूज, हिंदी न्यूजतस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (क्रिएटिवः नरेंद्र कुमार)

How to do Revival of Lapsed LIC Policies in Hindi: पैसों की किल्लत या किसी और वजह से LIC पॉलिसी का प्रीमियम नहीं भर पाए और पॉलिसी लैप्स हो गई है? तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) खास रीवाइवल कैंपेन लाया है, जिसके तहत लोगों की लैप्स हो चुकी पॉलिसी को फिर से चालू/एक्टिव कर दिया जाएगा। हाल ही में बीमा कंपनी ने इस बारे में अखबारों में विज्ञापन निकालने के साथ सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर भी जानकारी साझा की थी।

एलआईसी के इस वेक-अप कॉल के अनुसार, लैप्स हो चुकी पॉलिसी को 16 सितंबर 2019 से 15 नवंबर 2019 तक रिवाइव किया जाएगा। यूजर को इस प्रक्रिया के दौरान अपना मोबाइल नंबर, एनईएफटी डिटेल्स और ई-मेल सरीखी जानकारियां रजिस्टर करानी होंगी। पॉलिसी एक्टिव होने के बाद कवर तो कंटीन्यू होगा। अधिक जानकारी के लिए एलआईसी के कॉल सेंटर पर फोन कर जानकारी हासिल करें।

यह रहा इस बाबत LIC का नोटिसः

पॉलिसी लैप्स होने पर क्या होता है?: LIC पॉलिसी लैप्स होने के बाद कानूनी तौर पर पॉलिसी होल्डर के पास उसे रिवाइव/एक्टिव कराने के लिए दो साल का वक्त होता है। उक्त व्यक्ति पेनाल्टी और पेन्डिंग प्रीमियम भर कर अपनी पॉलिसी एक्टिव करा सकता है, जिसके बाद वह पॉलिसी के तहत मिलने वाले सारे बेनेफिट्स का लाभ पा सकेगा।

कब होगी पेपर वर्क की जरूरत?:

– प्रीमियम मिस होने के एक महीने के भीतर तक जरूरत नहीं। यह ग्रेस पीरियड होता है। इस दौरान न तो पेनाल्टी और न ही पेपर वर्क।

– छह महीने तक भी कोई पेपर वर्क नहीं, पर छह माह से अधिक वक्त पर थोड़ा सा पेपरवर्क होगा। इस स्थिति में ‘डेक्लेरेशन ऑफ गुड हेल्थ’ देना होगा। यह छोटा सा फॉर्म होता है।

– पॉलिसी अगर पांच साल से पुरानी हो, तब एक साल तक कोई पेपर वर्क नहीं। मेडिकल की जरूरत भी तभी होगी, जब व्यक्ति उस ब्रैकेट में आएगा या फिर इंश्योरेंस कवर बड़ा हो।

पेनाल्टी का क्या है हिसाब-किताब?:

समय के साथ इसकी रकम बढ़ती जाती है। अगर पेनाल्टी मिस हुई है, तब ब्रांच पर जाएं। एजेंट से मिलें। रिवाइवल कैंपेन के बारे में पता करें। खास बात है कि इस प्रकार के कैंपेन्स के दौरान छूट भी मिलती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 EPFO: पीएफ खाताधारकों के अकाउंट में जल्द आने वाला है पैसा! जानिए बैलेंस चेक करने का तरीका
2 IRCTC INDIAN RAILWAYS: सफर के दौरान फिल्मों का उठाइए मजा, इन ट्रेनों में शुरुआत, देखें LIST
3 Airtel Digital TV इन ग्राहकों को देगा 6 महीने की मुफ्त सर्विस, जानें डिटेल्स
ये पढ़ा क्या?
X