खुद भी बदल सकते हैं कार और बाइक का इंजन ऑयल, जानें तरीका

अगर इंजन ऑयल कम पड़ जाए या फिर वह काला पड़ने लग जाए तो इसे बदल देना चाहिए। इंजन ऑयल को हर 5000 से 6000 किलोमीटर के बाद बदल देना चाहिए।

Top 5 Bank Car Loan

व्हीक्ल को लंबे समय तक फिट रखने के लिए इसके इंजन ऑयल को सही समय पर बदलना जरूरी माना जाता है। इंजन को फ्रेश रखने के लिए बेहतर क्वालिटी का इंजन ऑयल डालना बेहतर माना जाता है। कार की रेगुलर सर्विस के दौरान कई लोग इंजन ऑयल बदलवा लेते हैं तो कई लोग खुद से भी ऐसा कर लेते हैं।

अगर आप भी अपनी कार का इंजन ऑयल खुद ही बदलना चाहते हैं तो आसानी से बदल सकते हैं। इसके लिए आपको कुछ बातों को ध्यान में रखना होगा। इंजन ऑयल बदलने से पहले आपको मैनुअल बुक में इंजनऑयल बदलने के निर्देश को पढ़ना चाहिए। इनमें लिखे दिशा निर्देशों को भी ध्यान में रखना चाहिए।

Kia Sonet: 94 हजार रुपये की डाउनपेमेंट के बाद घर ले जाएं ये कार, इतनी चुकानी होगी EMI

इंजन ऑयल बदलने से पहले आपको अपने व्हीक्ल के इंजन को पांच मिनट के लिए स्टार्ट रखना होगा। ऐसा इंजन के गर्म होने के लिए करना होगा जिससे उसमें मौजूद ऑयल गर्म होने के बाद थोड़ा पतला हो जाए।

इतना करने के बाद इंजन के नीचे लगे उस कैप को घुमाकर खोल लें और इंजन ऑयल को बर्तन में डाल लें। अगर आप बेहतर तरीके से बचे ऑयल को निकालना चाहते हैं तो इंजन को फ्लश भी कर सकते हैं। इसके लिए थोड़ा सा पेट्रोल लेकर इंजन में डालें और इंजन स्टार्ट कर दें उसके बाद सारा कचरा निकल जाएगा।

इतना करने के बाद अब आप नया ऑयल इंजन में डाल दें। इस दौरान आप ऑयल फिल्टर को भी बदल लें तो बेहत रहेगा। इससे ऑयल और इंजन दोनों की उम्र बढ़ जाती है।

कब बदलना चाहिए इंजन ऑयल?

अगर इंजन ऑयल कम पड़ जाए या फिर वह काला पड़ने लग जाए तो इसे बदल देना चाहिए। इंजन ऑयल को हर 5000 से 6000 किलोमीटर के बाद बदल देना चाहिए।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट