ताज़ा खबर
 

सड़क पर पैदल चलने वालों के लिए भी होते हैं नियम, जानें

आंकड़ों बताते हैं कि देश में सड़क दुघर्टनाओं का शिकार होने वाले तकरीबन 50 लोग पैदल चलने वाले होते हैं। सड़क सुरक्षा नियमों की जानकारी न होने, लापरवाही बरतने या जल्दबाजी करने के चक्कर में वह हादसों की चपेट में आते हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Pixabay)

सड़क पर ट्रैफिक नियम सिर्फ वाहन चालकों के लिए नहीं होते, बल्कि ये पैदल चलने वालों पर भी लागू होते हैं। मगर अधिकतर लोग इनसे वाकिफ नहीं होते हैं। मुख्य वजहें जानकारी की कमी, लापरवाही और चूक होती हैं। नतीजतन कोई भी कहीं भी सड़क हादसे का शिकार हो सकता है। यहां तक कि लोग उस दौरान अपनी जान से भी हाथ धो बैठ सकते हैं। ऐसे में कुछ सड़क सुरक्षा नियमों का पालन कर सड़क दुर्घटनाओं से बचा जा सकता है।

इंटरनेशनल रोड फेडरेशन के मुताबिक, सड़क पर चलने के दौरान आस-पास से गुजरने वाले वाहनों को लेकर सर्तक रहना चाहिए। हो सकते तो वाहनचालकों की आखों से संपर्क बनाए रहना चाहिए, ताकि वह भी आपको देखकर अपना वाहन दूर रखें।

ट्रैफिक जाम जहां लगा हो, उसकी उल्टी दिशा में फुटपाथ के किनारे न चलें। सड़क पर पैदल निकलने से पहले कोशिश करें कि दिन में हल्के रंग के या फिर चमकदार कपड़े पहनें। दिन के वक्त ये कपड़े दूर से ही दिखेंगे, जबकि शाम या रात के समय हल्के व परछाईं देने वाले कपड़े पहनें। मसलन कलाई वाले चमकीले बैंड्स, कमरबंद, वेस्ट कोट्स और जैकट।

बच्चों के साथ पैदल निकलने पर उनका खास ध्यान रखें। कोशिश रहे कि बच्चों और ट्रैफिक के बीच में खुद चलें। यानी बच्चों को सबसे किनारे (फुटपाथ में अंदर की तरफ) रखें और अच्छे से उनका हाथ थामें रहें।

हमेशा फुटपाथ का इस्तेमाल करें पर जहां फुटपाथ न हो, वहां सड़क के दाहिनी ओर चलें। ऐसे में आपको विपरीत दिशा से आ रहे वाहन आसानी से नजर आ जाएंगे, जबकि बाईं ओर चलने पर पीछे से आने वाले वाहनों के बारे में मालूम नहीं पड़ेगा। फुटपाथ न होने पर आप हादसे का शिकार हो सकते हैं।

पैदल चलने वाले लोगों के लिए जहां क्रॉसिंग हो, उसी के जरिए सड़क पार करें। मगर जहां उसकी व्यवस्था न हो, वहां पर दोनों तरफ ट्रैफिक लाइट और वाहन देखने के बाद ही कदम आगे बढ़ाएं। फुटओवर ब्रिज और सबवे का इस्तेमाल करें।

अगर इमरजेंसी नहीं है तो बीच सड़क पर चलनें का ख्याल दिमाग में भी न लाएं। सड़क पर चलते समय अखबार, होर्डिंग और मोबाइल-टैबलेट की तरफ अधिक ध्यान न दें। फोन पर बात भी न करें। बस का इंतजार करते हुए मुख्य सड़क के बीच में भी न आएं। चलती बस के पीछे भी न भागें।

सड़क के बीच में बने बैरियर न फांदें। शराब पीकर सड़क पर न चलें। जेब्रा कॉसिंग पर खड़े नहीं हों। अगर कोई एंबुलेंस, फायर इंजन, पुलिस की गाड़ी या आपात्कालीन सेवा वाला वाहन निकले तो उसे पहले रास्ता दें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मजेदार फैक्‍ट्स: ये बातें जान लेंगे तो रक्तदान से नहीं लगेगा डर
2 कभी सोचा है, टॉयलेट के फ्लश पर क्यों होते हैं दो बटन?
3 रैपर बताता है कि बिना डॉक्टर के कहे नहीं मिलतीं दवाएं, जानें कैसे
ये पढ़ा क्या?
X