ताज़ा खबर
 

Google ने इन 11 एप्स पर लगाया बैन, फोन से तुरंत हटाएं!

गूगल ने 11 एप्स पर बैन लगा दिया है। कंपनी का मानना है कि ये एप्स संदिग्ध मालवेयर से संबंधित हैं जिससे यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा है।

ऑनलाइन धोखाधड़ी के नए-नए मामले सामने आते रहते हैं। साइबर ठग लोगों को चूना लगाने के लिए कई ऐसे तरीके अपनाते हैं जिनके जरिए लोग आसानी से झांसे में आ जाते हैं। वहीं लोगों के स्मार्टफोन में सेंध लगाकर भी ठगी को अंजाम दिया जाता है। गूगल प्ले स्टोर पर भी ऐसी कई मोबाइल एप्लीकेशन हैं जो कि समय-समय पर गूगल द्वारा संदिग्ध पाए जाने पर रिमूव कर दी जाती हैं। गूगल संदिग्ध एप पर सीधा बैन लगा देती है।

इसी कड़ी में अब गूगल ने 11 एप्स पर बैन लगा दिया है। कंपनी का मानना है कि ये एप्स संदिग्ध मालवेयर से संबंधित हैं जिससे यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा है। सिक्योरिटी सोल्यूशंस के साथ काम करने वाले चेक प्वॉइंट ने इन एप्स पर शक जताया। जांच में पाया गया कि इन सभी में जोकर मालवेयर है। इसकी भनक लगने के बाद गूगल ने तुरंत से इन एप्स को बैन कर दिया।

बैन की गई एप्स में com.imagecompress.android, com.contact.withme.texts, com.hmvoice.friendsms, com.relax.relaxation.androidsms, com.cheery.message.sendsms (two different instances), com.peason.lovinglovemessage, com.file.recovefiles, com.LPlocker.lockapps, com.remindme.alram और com.training.memorygame है।

मालूम हो कि अपने प्लेटफॉर्म को सुरक्षित बनाने के लिए गूगल पहले भी इस तरह की संदिग्ध एप्स को बैन करता रहा है। गूगल काफी लंबे समय से इसके खिलाफ अभियान छेड़े हुए हैं।

बता दें कि इससे पहले चीन के साथ तनाव के बीच भारत ने टिकटॉक, हेलो और यूसी ब्राउजर समेत 59 चाइनीज मोबाइल एप्लीककेशन को बैन किया था। सरकार ने इन्हें यूजर्स की सुरक्षा के लिए खतरनाक बताया था। इसके बाद इन सभी ऐप्स को गूगल ने प्ले स्टोर से हटा लिया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 UMANG एप पर पीएम आवास योजना की हर जानकारी, सरकार घर बनाने के लिए दे रही ढाई लाख की सब्सिडी
2 कोरोना की दवा के लिए यहां Aadhaar कार्ड अनिवार्य, जानें कैसे बनता है ये
3 Indian Railway, IRCTC: रेलवे ने कैंसल की ये ट्रेनें, स्पेशल ट्रेनों में से कुछ ट्रेनों के फेरे में भी कटौती का फैसला, देखें पूरी लिस्ट
ये पढ़ा क्या?
X