scorecardresearch

यात्रियों के लिए खुशखबरी, Indian Railways जुलाई के अंत तक फिर से शुरू करेगा 26 ट्रेनें

असम में बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों से ट्रेन सेवा को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया है। इस फैसले से असम के एकमात्र हिल स्टेशन से दो महीने से अधिक समय के अंतराल के बाद 13 जोड़ी ट्रेनें यानी कि 26 ट्रेनें अन्‍य जगहों के लिए फिर से शुरू की जाएंगी।

यात्रियों के लिए खुशखबरी, Indian Railways जुलाई के अंत तक फिर से शुरू करेगा 26 ट्रेनें
Indian Railways फिर से शुरू करेगा ये 13 जोड़ी ट्रेन (फोटो-Freepik)

भारतीय रेलवे ने यात्रियों के लिए राहत दी है। असम में बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों से ट्रेन सेवा को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया है। इस फैसले से असम के एकमात्र हिल स्टेशन से दो महीने से अधिक समय के अंतराल के बाद 13 जोड़ी ट्रेनें यानी कि 26 ट्रेनें अन्‍य जगहों के लिए फिर से शुरू की जाएंगी। गौरतलब है कि यह क्षेत्र लगातार बारिश के कारण रेलवे सेवाएं बाधित हुई थीं। रेलवे सेवा के बाधित होने से असम की बराक घाटी और पूर्वोत्तर राज्यों त्रिपुरा, मिजोरम और मणिपुर में माल और लोगों की आवाजाही पर प्रतिकूल प्रभाव भी पड़ा था।

भारतीय रेलवे के नॉर्थईस्ट फ्रंटियर रेलवे ज़ोन ने एक ट्वीट में जानकारी दी थी कि लमडिंग डिवीजन के लुमडिंग-बदरपुर खंड के कई स्थानों में टूटने के कारण रद्द की गई ट्रेन सेवाओं को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया है। यह ट्रेनें जुलाई के अंत तक शुरू कर दी जाएंगी। इससे पहले रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने पूर्वोत्तर के लोगों को आश्वासन दिया था कि 10 जुलाई तक पहाड़ी खंड में ट्रेन सेवाएं फिर से शुरू हो जाएंगी।

ये शुरू की जाएंगी 13 जोड़ी ट्रेनें

12504 अगरतला-बैंगलोर कैंट एक्सप्रेस 06-08-22

12503 बैंगलोर कैंट-अगरतला एक्सप्रेस 09-08-22

14620 फिरोजपुर कैंट-अगरतला एक्सप्रेस 25-07-22

14619 अगरतला-फिरोजपुर छावनी। एक्सप्रेस 28-07-22

14038 नई दिल्ली-सिलचर पीएसके एक्सप्रेस 28-07-22

14037 सिलचर-नई दिल्ली पीएसके एक्सप्रेस 01-08-22

15626 अगरतला-देवघर साप्ताहिक एक्सप्रेस 23-07-22

15625 देवघर-अगरतला साप्ताहिक एक्सप्रेस 25-07-22

15641 सिलचर-न्यू तिनसुकिया एक्सप्रेस 23-07-22

15642 न्यू तिनसुकिया-सिलचर एक्सप्रेस 24-07-22

20501 अगरतला-आनंद विहार टर्मिनल तेजस एक्सप्रेस 25-07-22

20502 आनंद विहार टर्मिनल-अगरतला तेजस एक्सप्रेस 27-07-22

15615 गुवाहाटी-सिलचर एक्सप्रेस 22-07-22

15616 सिलचर-गुवाहाटी एक्सप्रेस 22-07-22

15611 गुवाहाटी-सिलचर एक्सप्रेस 25-07-22

15612 सिलचर-गुवाहाटी एक्सप्रेस 24-07-22

15888 गुवाहाटी-बदरपुर पर्यटक एक्सप्रेस 30–7-22

15887 बदरपुर-गुवाहाटी पर्यटक एक्सप्रेस 30-07-22

13173 सियालदह-अगरतला कंचनजंघा एक्सप्रेस 22-07-22

13174 अगरतला-सियालदह कंचनजंघा एक्सप्रेस 23-07-22

13175 सियालदह-सिलचर कंचनजंघा एक्सप्रेस 23-07-22

13176 सिलचर-सियालदह कंचनजंघा एक्सप्रेस 25-07-22

12515 कोयंबटूर जं. – सिलचर एक्सप्रेस 24-07-22

12516 सिलचर-कोयंबटूर जं. एक्सप्रेस 26-07-22

12507 तिरुवनंतपुरम सेंट्रल-सिलचर एक्सप्रेस 26-07-22

12508 सिलचर-तिरुवनंतपुरम सेंट्रल एक्सप्रेस 28-07-22

एनएफ रेलवे सीपीआरओ ने कहा कि एनएफ रेलवे की टीम ने दक्षिण असम, त्रिपुरा, मणिपुर और मिजोरम से कनेक्टिविटी सुनिश्चित करने के लिए अथक प्रयास किया। 8 जुलाई तक सभी प्रभावित स्थानों पर ट्रायल लाइट इंजन रन सफलतापूर्वक किए गए हैं। सीपीआरओ ने आगे दावा किया कि इतनी बड़ी प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के दौरान एनएफ रेलवे द्वारा किए गए बहाली का काम भारतीय रेलवे में अब तक का सबसे तेज काम है।

बता दें कि मई के दूसरे सप्ताह के दौरान, लुमडिंग डिवीजन के लुमडिंग-बदरपुर पहाड़ी खंड में लगभग 85 किमी का रेलवे ट्रैक भारी मूसलाधार बारिश और बड़े पैमाने पर भूस्खलन के कारण बुरी तरह प्रभावित हुआ था। रेल मंत्रालय ने बाद में बाढ़ प्रभावित दीमा हसाओ में टूटी हुई रेलवे लाइनों की बहाली के लिए 180 करोड़ रुपये मंजूर किए थे।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.