ताज़ा खबर
 

मोबाइल में स्कैन करके रखे ड्राइविंग लाइसेंस पर कट सकता है चालान! जान लें पूरा नियम

सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन में अधिकारिक तौर पर यह बात कही गई थी कि उपयोगकर्ता डिजिलॉकर एप के माध्यम से ड्राइविंग लाइसेंस की काॅपी लेकर चल सकते हैं और मांगे जाने पर अधिकारियों को इसे दिखा सकते हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

मोबाइल में ड्राइविंग लाइसेंस की स्कैन कॉपी रखने के बावजूद चालान कट सकता है। ऐसा ही एक मामला महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से आया है। कल्पक केसी शाह नामक एक ट्वीटर यूजर हाल ही में उस समय मुसीबत में पड़ गए जब उन्होंने अधिकारियों द्वारा नियमित जांच के दौरान मांगे जाने पर लाइसेंस की साफ्ट कॉपी पेश की। हालांकि, यह साफ नहीं है कि उन्होंने अपने मोबाइल में स्कैन की हुई कॉपी दिखाई या फिर एम-परिवहन एप या डिजिलॉकर एप में रखी हुई कॉपी। हालांकि, पुलिस के व्यवहार से ऐसा लग रहा था कि स्कैन की हुई कॉपी दिखाई गई थी। कल्पक केसी शाह ने मुंबई पुलिस को टैग करते हुए ट्वीट कर पूछा, “ड्राइविंग लाइसेंस का साॅफ्ट कॉपी वैलिड है या नहीं?”  इसके जवाब में मुंबई पुलिस ने लिखा, “आपको एक वैलिड/ऑरिजनल ड्राइविंग लाइसेंस रखना चाहिए और वर्दी पहने पुलिसवाले जांच के दौरान इसकी मांग करें तो उन्हें दिखाना चाहिए।”

इस घटना से इतर आपको बता दें कि पुलिस आपके ड्राइविंग लाइसेंस की किसी पुरानी साॅफ्ट कॉपी जो स्कैन कर आपके गैलरी में सेव की गई है या फोन में रखी गई है, उसे स्वीकार करने के लिए बाध्य नहीं है। ड्राइविंग लाइसेंस की साफ्ट कॉपी के उपयोग का एकमात्र कानूनी तरीका यह है कि यह एम-परिवहन एप या डिजिलॉकर एप पर अपलोड हो। यदि पुलिस इसे स्वीकार करने से मना कर देती है तो आप इस मामले को ऊपर तक ले जा सकते हैं या फिर उन्हें सरकार द्वारा 19 नवंबर 2018 को जारी नोटिफिकेशन दिखा सकते हैं।

सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन में अधिकारिक तौर पर यह बात कही गई थी कि उपयोगकर्ता डिजिलॉकर एप के माध्यम से ड्राइविंग लाइसेंस की काॅपी लेकर चल सकते हैं और मांगे जाने पर अधिकारियों को इसे दिखा सकते हैं। इस नोटिफिकेशन में अधिकारियों द्वारा उपयोगकर्ताओं के उत्पीड़न को लेकर भी संशोधन किया गया। लेकिन कल्पक केसी शाह द्वारा किया गया ट्वीट सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तेजी से वायरल हो रहा है। लोग पुलिस से यह साफ तौर पर बताने को कह रहे हैं कि डिजिटल कॉपी स्वीकार की जाएगी या नहीं। इसके बाद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App