ऑनलाइन बिक रहा नकली Fastag, सरकार ने बताया बचने का तरीका

NHAI ने आगे जानकारी देते हुए कहा है कि कुछ जालसाजों ने नकली FASTag को ऑनलाइन बेचना शुरू कर दिया। धोखाधड़ी करने वालों ने NHAI या IHMCL की तरह ही नकली FASTag बेच रहे हैं, जो असली जैसे लगते हैं, लेकिन ये नकली हैं।

ऑनलाइन बिक रहा नकली Fastag, सरकार ने बताया बचने का तरीका (File Photo)

आधुनिक टोल नियमों को गति देने के लिए Fastag की व्‍यवस्‍था की गई, इससे लोगों को जाम और अन्‍य समस्‍याओं से राहत भी मिली। पर अब इसे लेकर कुछ धोखधड़ी के मामले सामने आए हैं। जिसे लेकर एनएचआई ने चेतावनी भी जारी की है कि Fastag खरीदते वक्‍त सावधानी की जाए, नहीं तो आपके लिए समस्‍या खड़ी हो सकती है। NHAI ने आगे जानकारी देते हुए कहा है कि कुछ जालसाजों ने नकली FASTag को ऑनलाइन बेचना शुरू कर दिया। धोखाधड़ी करने वालों ने NHAI या IHMCL की तरह ही नकली FASTag बेच रहे हैं, जो असली जैसे लगते हैं, लेकिन ये नकली हैं। आइए जानते हैं कैसे फ्रॉड से बच सकते हैं…

FASTag को सही जगह से खरीदें
जब बाजार में नकली फॉस्‍टैग बिक रहा है तो ऐसे में असली फॉस्‍टैग कहां से मिलेगा यह बड़ा सवाल है। इस बारे में NHAI ने जानकारी दी है कि ऑरिजिनल FASTag खरीदने के लिए, आपको वेबसाइट https://ihmcl.co.in/ पर जाना चाहिए या MyFastag App से पा सकते हैं। या फिर आप FASTag को लिस्टेड बैंकों और बिक्री एजेंटों के अधिकृत प्वाइंट ऑफ सेल से भी खरीदा जा सकता है।

यहां से भी प्राप्‍त कर सकते हैं फॉस्‍टैग
FASTag जल्दी से प्राप्त करने के लिए, आप Amazon.in पर भी जा सकते हैं या ICICI बैंक, HDFC बैंक, एयरटेल पेमेंट्स बैंक, एसबीआई, कोटक बैंक, एक्सिस बैंक और पेटीएम पेमेंट्स बैंक जैसे बैंकों से संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: आ रहा है इनकम टैक्स बचाने का एक और विकल्प, 33% टैक्स ब्रैकेट में आने वालों को मिल सकता है 6.25 फ़ीसदी रिटर्न

FASTag रिचार्ज कैसे करें?
अपने FASTag खाते को रिचार्ज करने के लिए, आप बैंक के क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड या NEFT या RTGS या नेट बैंकिंग का उपयोग कर ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं। FASTag अकाउंट को 1 लाख रुपए तक का रिचार्ज किया जा सकता है। इसके अलावा आप अपने सुविधानुसार, गूगल पे, पेटीएम, एयरटेल पेमेंट्स बैंक और फोनपे से ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं।

यहां करें शिकायत
FASTag से संबंधित जानकारी IHMCL वेबसाइट पर भी दी गई है। ऐसे में अगर किसी तरह की शिकायत करनी हो तो आप नेशनल हाईवे ऑथरिटी ऑफ इंडिया के हेल्पलाइन नंबर 1033 पर कॉल करके नकली FASTag की शिकायत कर सकते हैं।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।