scorecardresearch

‘FAARMS’ ने Reliance General Insurance से मिलाया हाथ, ऐप से किसानों को देगा यह बीमा

‘फार्म्स’ (FAARMS) किसानों के लिए एक किस्म का वन स्टॉप ऑनलाइन मंच है। मौजूदा समय में इसके पास निर्माताओं से सीधे उपलब्ध होने वाले 2,500 से अधिक प्रमाणित प्रोडक्ट्स की एक बड़ी लिस्ट है। ‘फार्म्स’ की स्थापना ग्रामीण क्षेत्र के लिए अनुभवी बैंकरों, तरणबीर सिंह और आलोक दुग्गल ने की थी।

farmer, faarms, rgi
पश्चिम बंगाल के नदिया में खेत में काम करते बुजुर्ग किसान। (फाइल फोटोः पीटीआई)

एग्रिटेक (Agritech) स्टार्टअप एफएएआरएमएस (FAARMS) ने किसानों और ग्रामीण आबादी को अपने मोबाइल ऐप के जरिए पशु-स्वास्थ्य बीमा कवर (Cattle-Health Insurance) मुहैया कराने के लिए रिलायंस जनरल इंश्योरेंस (Reliance General Insurance) से हाथ मिलाया है। फार्म्स इसके

कंपनी के एक बयान में कहा गया कि इस सहयोग के तहत न केवल किसान बल्कि कोई भी व्यक्ति फार्म्स ऐप पर स्वास्थ्य और पशु बीमा की एक सीरीज तक पहुंच और उसमें से इसका चयन कर सकता है। फार्म्स के सह-संस्थापक और सीईओ तरणबीर सिंह ने समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) को बताया, ‘‘केवल एक एग्रिटेक फर्म होने से हमारा लक्ष्य ग्रामीण भारत की जरूरतों को पूरा करने वाली एक ग्रामीण टेक कंपनी बनना है। यह हमारे सपने के करीब एक कदम है।’’

इस बीच, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस के मुख्य वितरण अधिकारी (सीडीओ) आनंद सिंघी बोले, ‘‘भारत की लगभग 60 प्रतिशत आबादी अभी भी अपनी आजीविका के लिए कृषि पर निर्भर है। किसान हमारे समाज की रीढ़ हैं और उन्हें बीमा कवर के तहत लाना हमारी प्राथमिकता है।’’

कहा गया कि इन बीमा उत्पादों की विशेषताओं और पेशकशों को किसानों की बीमा जरूरतों को ध्यान में रखते हुए खास तौर पर तैयार किया गया है। यही नहीं, इन उत्पादों की प्रीमियम साइकिल फसल के मौसम के आस-पास रखी गई है, ताकि किसान अपने बीमा प्रीमियम को आसानी से चुका सकें।

फार्म्स, किसानों के लिए एक किस्म का वन स्टॉप ऑनलाइन मंच है। यह किसानों के लिए बीज, कृषि रसायन, मशीनरी और पशु आहार से जुड़ी सभी लागत सामग्रियों को उपलब्ध कराता है। मौजूदा समय में इसके पास निर्माताओं से सीधे उपलब्ध होने वाले 2,500 से अधिक प्रमाणित प्रोडक्ट्स की एक बड़ी लिस्ट है।

फिलहाल कंपनी की मौजूदगी पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश सरीखे सूबों में है। ‘फार्म्स’ की स्थापना ग्रामीण क्षेत्र के लिए अनुभवी बैंकरों, तरणबीर सिंह और आलोक दुग्गल ने की थी। अगस्त, 2021 में फार्म्स ने विस्तार के लिए मूल पूंजी के रूप में 20 लाख डॉलर जुटाए थे।

हाल ही में इस स्टार्ट-अप ने सेंट्रल वेयरहाउसिंग कॉरपोरेशन (Central Warehousing Corporation : CWC) के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके तहत एफएएआरएमएस की भारत भर में अपने गोदामों तक पहुंच होगी जो कंपनी को बीज, कृषि रसायन, जैव उर्वरक, मुर्गी पालन और मवेशियों को पहुंचाने में मदद करेगी।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट