ताज़ा खबर
 

EPFO Rules: क्या नौकरी जाने पर तुरंत निकाल सकते हैं पीएफ की 75 फीसदी रकम? यहां जानें क्या कहता है नियम

EPFO Rules: पीएफ को लेकर अक्सर लोगों के मन में यह सवाल होता है कि क्या वे नौकरी जाने पर तुरंत पीएफ की 75 फीसदी रकम की निकासी कर सकते हैं या नहीं?

EPFO, Corona Virus, Interest Rate,कर्मचारी भविष्य निधि संगठन कार्यालय। (फाइल फोटो)

EPFO Rules: कोरोना संकट के बीच कई लोगों को नौकरी से निकाल दिया गया है। कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने महामारी के डर से खुद ही नौकरी छोड़ दी है। संकट की इस घड़ी में ऐसे लोगों के पास प्रोविडेंट फंड से निकासी का विकल्प मौजूद है। इस फंड की शुरुआत ही इसी मकसद से की गई थी। नौकरी न रहने और आर्थिक जरूरत को पूरा करने का कोई विकल्प न हो तो इस फंड को निकाला जा सके।

पीएफ को लेकर अक्सर लोगों के मन में यह सवाल होता है कि क्या वे नौकरी जाने पर तुरंत पीएफ की 75 फीसदी रकम की निकासी कर सकते हैं या नहीं? कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ के नियमों के मुताबिक ईपीएफओ सदस्य जिसका पीएफ कटता रहा हो अगर उसकी नौकरी चली जाती है तो वह 1 माह के बाद पीएफ अकाउंट से 75 फीसदी पैसा निकाल सकता है।

वहीं नियमों के मुताबिक 25 फीसदी की बची हुई रकम की भी निकासी की जा सकती है। इसके लिए शख्स को 2 महीने बाद अप्लाई करना होता है। इससे पहले वह अप्लाई नहीं कर सकता। वहीं अगर आप अपने पीएफ की रकम का एक रुपया भी नहीं निकालते हैं तो अगली नौकरी से जुड़ने पर आपका और आपके इम्पलॉयर (कंपनी) का कंट्रीब्यूशन फिर से चालू हो जाएगा।

खाताधारक को निकासी के लिए आवेदन करते हुए क्लेम फॉर्म, दो राजस्व स्टाम्प, एड्रेस प्रूफ, आईडेंटिटी प्रूफ, बैंक अकाउंट स्टेटमेंट और पिता का नाम, जन्मतिथि की जानकारी देनी होती है। इसके साथ ही एक कैंसल ब्लैंक चेक भी अटैच करना होता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 LIC Jeevan Shanti Policy: एकमुश्त निवेश कर हर महीना 39 हजार रु पेंशन, जिंदगीभर मिलेगा फायदा
2 UTI म्यूचुअल फंड: पॉवर ऑफ थ्री में निवेश करना सही? यहां जानें
3 Ration Card इन जगहों पर भी आता है काम, सस्ते गेहूं-चावल के साथ इसके जरिए मिलते हैं कई फायदे
यह पढ़ा क्या?
X