ताज़ा खबर
 

EPFO: अकाउंट होल्डर के डेथ के बाद ऐसे हासिल करें ऑनलाइन क्लेम

अक्सर ऐसा होता है कि लंबी प्रक्रिया से बचने के लिए नॉमिनी पीएफ का क्लेम नहीं करते हैं। आपको बता दें कि यह प्रक्रिया ऑनलाइन भी आसानी से पूरी की जा सकती है।

सांकेतिक तस्वीर।

EPFO (कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन) के खाताधारकों के लिए काम की खबर है। क्या आपको पता है कि अगर ईपीएफओ खाता धारक की मौत हो जाती है तो ऑनलाइन क्लेम कैसे हासिल कर सकते हैं? अगर आपको नहीं पता है तो यह खबर आपके काम की है। दरअसल, खाता धारक की मौत हो जाने पर कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन नॉमिनी को EPFकी पूरी राशि नॉमिनी को देता है।

अक्सर ऐसा होता है कि लंबी प्रक्रिया से बचने के लिए नॉमिनी पीएफ का क्लेम नहीं करते हैं। आपको बता दें कि यह प्रक्रिया ऑनलाइन भी आसानी से पूरी की जा सकती है। ईपीएफ सदस्यों द्वारा नामांकन फॉर्म भरने के लिए ई-नामांकन सुविधा भी है इसके आलावा लाभार्थी द्वारा ईपीएफ मृत्यु निकासी दावे के लिए ऑनलाइन प्रावधान भी है।

EPFO के पोर्टल पर ई-नामांकन की सुविधा उपलब्ध है।कोई भी सदस्य  जिसके पास आधार कार्ड और यूएएन नंबर है वह इस सुविधा का लाभ उठा सकता है। कोई भी ईपीएफओ होल्डर  ऑनलाइन जाकर बेनीफिशयरी या नॉमिनी का नाम बदल सकता है या अपडेट कर सकता है। ध्यान रहे कि ई-नॉमिनेशन की प्रक्रिया आधार कार्ड इस्तेमाल करने वालों के लिए ही है।

लाभार्थी को मेंबर नॉमिनी फॉर्म 10D, 20 और 5IFभरना होता है। यदि खाताधारक की मृत्यु हो जाती है, तो नामांकित व्यक्ति या लाभार्थी अपने आधार लिंक किए गए मोबाइल पर ओटीपी के आधार पर ईपीएफ कम्पोजिट डेथ क्लेम फॉर्म जमा कर सकते हैं। इसके अलावा लाभार्थी या नामित व्यक्ति  ऑफलाइन मोड में भी डेथ क्लेम फॉर्म जमा कर सकता है।

Next Stories
1 IRCTC कराएगा तीन प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंगों के दर्शन, जल्द शुरू होगी काशीमहाकाल एक्सप्रेस, जाने रूट्स व जरूरी डिटेल्स
2 बच्चों की पढ़ाई के लिए बेहतरीन है LIC का Bima Shree प्लान, रोजाना 192 रुपये के निवेश पर 22 लाख से ज्यादा का रिटर्न्स, 9 लाख का मनी बैक भी
3 बच्चों के Aadhaar Card में अपडेशन होता है बिल्कुल Free, जानें कब-कब कराना पड़ता है चेंज
ये पढ़ा क्या?
X