ताज़ा खबर
 

UP: अब पुलिस बुलाने के लिए 100 नहीं, 112 पर करनी होगी कॉल, फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस भी इसी नंबर पर आएगी

किसी आपात स्थिति में अब 100 नंबर की जगह 112 नंबर पर डायल करना होगा। प्रदेश सरकार 26 अक्टूबर से 100 नंबर को बंद करने जा रही है। इस योजना में फोन के व्यस्त रहने पर भी काम होगा। इसकी तैयारी पूरी हो गई है।

Author लखनऊ | Published on: October 21, 2019 9:56 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस)

किसी आपात स्थिति में यदि पुलिस की जरूरत पड़ जाए तो अब आपको 100 नंबर की जगह 112 नंबर पर डायल करना होगा। प्रदेश सरकार 26  अक्टूबर से 100 नंबर को बंद कर दिया जाएगा। इसकी जगह 112 नंबर चालू हो जाएगा। इस पर काल करके घटना की सूचना पुलिस को दी जा सकेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 26 अक्टूबर को इस नंबर का उद्घाटन करेंगे। उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने सभी पुलिस अधिकारियों और प्रशासनिक अधिकारियों को पत्र भेजकर इस प्रणाली के बारे में जानकारी दे दी है।

राजधानी दिल्ली में यह योजना पहले से है : देश की राजधानी दिल्ली में यह योजना पहले से ही चल रही है। आपातकालीन नंबर 112 दुनिया के कई देशों में है। इस नंबर पर काल करने से जरूरतमंदों को एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड और पुलिस की सेवा एक साथ मिल जाती है। आपातकाली प्रतिक्रिया सहायता प्रणाली की शुरुआत के साथ ही नए नंबर को लागू कर दिया गया है। पिछले 20 सितंबर को चंडीगढ़ में गृहमंत्री अमित शाह ने देश की पहली एकीकृत आपातकालीन प्रतिक्रिया सहायता प्रणाली को लांच किया था।

Maharashtra Assembly Elections 2019 Voting Live Updates

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 LIVE Updates

नंबर व्यस्त रहने पर भी होगा काम : इस सेवा के शुरू हो जाने से अब लोगों को अलग-अलग हालात के लिए ढेर सारे नंबरों को नहीं याद करना पड़ेगा। कई बार नंबर व्यस्त रहने से भी दिक्कत होती है। जरूरत के वक्त आपात सुविधा नहीं मिल पाती है। इससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अब नए नंबर से यह दिक्कत खत्म हो जाएगी। यह नंबर काल करने पर तुरंत ही उपलब्ध होगा। साथ ही जो सुविधा आपको चाहिए, उसके बारे में बताने पर वह तुरंत ही उपलब्ध होगा।

By-Elections 2019 Voting LIVE Updates

दिक्कतों से मिलेगा छुटकारा : प्रणाली के तहत 112 नंबर से डायल नंबर 100 (पुलिस), 101 (दमकल) और 108 (स्वास्थ्य) सेवाओं को एक साथ जोड़ दिया गया है। इससे पहले इमरजेंसी सेवाओं के लिए 20 से अधिक आपात नंबर थे। कई बार कुछ नंबरों के व्यस्त होने के कारण फोन मिल पाना संभव नहीं हो पाता था, लेकिन नई प्रणाली के लागू हो जाने के बाद से लोगों को इन दिक्कतों से छुटकारा मिल जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 HDFC ग्राहकों के लिए खुशखबरी, हिंदी समेत इन क्षेत्रीय भाषाओं में आसानी से मिलेगी जानकारी
2 LIC New Jeevan Nidhi: LIC के इस प्लान में रोजाना सिर्फ 72 रुपये निवेश कर 56 की उम्र से ही पा सकते हैं 28,000 रुपये मंथली पेंशन, जानें- डिटेल्स
3 SBI Card Pay: बिना क्रेडिट कार्ड और पिन का इस्तेमाल कर कीजिए लेनदेन, जानिए इस शानदार सर्विस से जुड़ी अहम बातें