scorecardresearch

DTC बोर्ड का फैसलाः 1,500 लो-फ्लोर इलेक्ट्रिक बसों की मंजूरी, ईवी चार्जिंग व बैटरी स्‍वैपिंग स्‍टेशन भी बनेगा, इन्‍हें मिलेगा दोगुना मानदेय

दिल्ली सरकार ने अपने सार्वजनिक परिवहन बेड़े में 1,500 लो-फ्लोर इलेक्ट्रिक बसों को शामिल करने की मंजूरी दी है। वहीं 10 जगहों पर ईवी चार्जिंग ओर स्‍वैपिंग बैटरी स्‍टेशन लगाने का भी फैसला किया है।

Electric Bus in Delhi | Electric Bus
दिल्‍ली में 1500 फ्लोर इलेक्ट्रिक बसों को मिली मंजूरी, इन लोगों को बढ़ा मानदेय (फाइल फोटो)

दिल्‍ली के यात्रियों को बड़ी राहत देते हुए दिल्‍ली की डीटीसी बोर्ड ने बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली सरकार ने अपने सार्वजनिक परिवहन बेड़े में 1,500 लो-फ्लोर इलेक्ट्रिक बसों को शामिल करने की मंजूरी दी, जिससे गर्मी में सफर करने वाले लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। इसके अलावा ड्राइवर पद पर चयन के लिए प्रशिक्षण के दौरान महिलाओं का मानदेय दोगुना करने का फैसला किया गया है।

दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) ने दिल्ली ईवी नीति 2020 के तहत इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) चार्जिंग स्टेशन और बैटरी स्‍वैपिंग स्टेशन स्थापित करने के लिए विभिन्न एजेंसियों को 10 साइटें आवंटित करने का भी फैसला किया है। वहीं सरकार ने पांच राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में 11 मार्गों पर 75 अंतर-राज्यीय बसें चलाने की भी मंजूरी दी।

मानदेय किया दोगुना
डीटीसी बोर्ड ने एचएमवी ड्राइविंग लाइसेंस के साथ अनुबंध के आधार पर ड्राइवरों के पद पर नियुक्ति के लिए प्रशिक्षण के दौरान महिलाओं को दिए जाने वाले वजीफे को 6,000 रुपये से बढ़ाकर 12,000 रुपये प्रति माह करने का भी फैसला किया। अधिकारिक बयान में कहा गया है कि बोर्ड ने बस चालक के रूप में रोजगार की तलाश करने वाली महिलाओं के लिए कम से कम तीन साल के लिए एचएमवी ड्राइविंग लाइसेंस रखने की शर्त को भी हटा दिया है।

इन जगहों पर लगाए जाएंगे ईवी चार्जिंग और बैटरी स्‍वैपिंग स्‍टेशन
बोर्ड ने ईवी चार्जिंग और बैटरी स्वैपिंग स्टेशन स्थापित करने के लिए 10 साइटें अम्बेडकर नगर डिपो, जल विहार टर्मिनल, दिलशाद गार्डन टर्मिनल, करावल नगर टर्मिनल, शादीपुर डिपो, मायापुरी डिपो, बिंदपुर टर्मिनल, पूर्वी विनोद नगर, पंजाबी, बाग और रोहिणी डिपो को शामिल किया है। वहीं दिल्ली ट्रांसको लिमिटेड (डीटीएल) ने बोली प्रक्रिया के माध्यम से चार सेवा प्रदाताओं की पहचान की है जो जल्द ही इन स्थानों पर ईवी चार्जिंग/बैटरी स्वैपिंग स्टेशन स्थापित करने के लिए डीटीसी के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे।

इन जगहों पर चलेंगी बसें
डीटीसी बोर्ड ने अंतरराज्यीय संचालन के लिए 75 ईवी वसे, जिसमें 38 गैर एसी और 37 एसी बसें शामिल हैं। ये बसें पांच राज्यों (उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब) और चंडीगढ़ में दिल्ली-ऋषिकेश, दिल्ली-हरिद्वार, दिल्ली-देहरादून, दिल्ली-हल्द्वानी, दिल्ली-आगरा, दिल्ली-बरेली, दिल्ली-लखनऊ, दिल्ली-जयपुर, दिल्ली-चंडीगढ़, दिल्ली-पानीपत और दिल्ली-पटियाला के बीच 11 रूटों पर चलेंगी।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट