Ration Card से जुड़ी ये अहम बातें जानते हैं आप? जानें क्यों जरूरी आधार कार्ड से इसकी सीडिंग

राशन कार्ड मुख्य तौर पर तीन प्रकार के होते हैं। इनमें गरीबी रेखा से ऊपर वालों को पीला, गरीबी रेखा से नीचे वालों को सफेद और अन्त्योदय अन्न योजना श्रेणी के परिवारों को गुलाबी रंग का कार्ड जारी किया जाता है।

राशन की डिलीवरी करता कर्मचारी। सोर्स: Indian Express/Praveen Khanna

राशन कार्ड एक बेहद ही महत्वपूर्ण सरकारी दस्तावेज है। इसके जरिए रियायती दरों पर लोगों को राशन उपलब्ध करवाया जाता है। राशन कार्ड राज्य सरकार द्वारा जारी किया जाता है। राशन कार्ड को लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल होते हैं। कई लोग ऐसे हैं जिन्हें राशन कार्ड के संबंध में कोई विशेष जानकारी नहीं है।

अगर आप राशनकार्डधारक हैं या राशन कार्ड बनवाने की सोच रहे हैं तो आपके लिए इससे जुड़ी कुछ अहम बातों की जानकारी होनी चाहिए। सबसे पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि राशन कार्ड कितने प्रकार के होते हैं। दरअसल राशन कार्ड मुख्य तौर पर तीन प्रकार के होते हैं। इनमें गरीबी रेखा से ऊपर वालों को पीला, गरीबी रेखा से नीचे वालों को सफेद और अन्त्योदय अन्न योजना श्रेणी के परिवारों को गुलाबी रंग का कार्ड जारी किया जाता है। जारी किए गए हर राशन कार्ड पर प्रदेश सरकार के चिन्ह का होलोग्राम चस्पा होना आवश्यक है।

Ration Card: शादी के बाद ऐसे कटवाएं बेटी का नाम, जानें क्यों है जरूरी

राज्य सरकार, जाली राशन कार्डों को समाप्त करने के लिए राशन कार्डों की समय-समय पर जांच सुनिश्चित करती है और दोषी पाए गए व्यक्तियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करेगी। ऐसे में कोई पात्र लोगों का हक न छीने इसके लिए भी दंड की व्यवस्था की गई है।

कई राज्यों में राशन की दुकान पर बॉयोमेट्रिक फिंगरप्रिंट के बाद ही राशन कार्ड दिया जाता है। यानी राशनकार्डधारकों को अपने आधार कार्ड को राशन कार्ड के साथ लिंक करवाना होता है। देश में राशन कार्ड आधार कार्ड लिंकिंग के लिए कोई आधिकारिक यूनिवर्सल पोर्टल नहीं है।

हालांकि कुछ राज्य अपने स्तर इसकी सुविधा दे रहे हैं। जैसे उत्तर प्रदेश में एसएसडीजी/जन सुविधा केन्द्रों के जरिए राशन कार्ड में आधार सीडिंग/संशोधन कराया जा सकता है। राशन कार्ड और आधार लिंक होने से नकली राशन कार्ड को खत्म हो जाएंगे।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट