कहीं फर्जी तो नहीं है आपको COVID-19 Vaccine Certificate? इस तरह कर सकते हैं चेक

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि 29 सितंबर तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 85.42 करोड़ से अधिक COVID-19 वैक्सीन खुराक प्रदान की जा चुकी हैं। इसके अलावा, 83.80 लाख से अधिक खुराक पाइपलाइन में हैं।

कहीं फर्जी तो नहीं है आपको COVID-19 Vaccine Certificate? इस तरह कर सकते हैं चेक (File Photo)

COVID-19 महामारी को लेकर देश व दुनिया में टीकाकरण किया जा रहा है। इसके साथ ही अनलॉक की प्रक्रिया भी जारी है। वहीं भारत में टीकारण तेजी से किया जा रहा है। स्थिति यह है कि यहां एक दिन में एक करोड़ तक के लोगों तक कोरोना टीके की खुराक पहुंचाई जा रही है। केंद्र सरकार द्वारा बनाया गया पोर्टल CoWIN और Aarogya Setu प्लेटफॉर्म COVID 19 के खिलाफ जंग में मददगार साबित हुए हैं। दोनों प्लेटफॉर्म वैक्सीन स्लॉट बुक करने और प्रमाण पत्र डाउनलोड करने के लिए समान रूप से भूमिका निभा रहे हैं।

इसके अलग टीकाकरण के साथ- साथ धोकेबाजी भी बढ़ गई है। देश में तेजी से टीकाकरण किया जा रहा है। लेकिन एक तरफ ऐसा भी हो रहा कि भारत सहित 29 देशों में नकली टीकाकरण रिपोर्ट बनाई और वितरित की जा रही है। चेकपॉइंट के शोध के अनुसार, प्रमाण पत्र प्रति दस्तावेज़ लगभग 6,000 रुपये में बेचे जा रहे थे। सरकार ने इसके खिलाफ जंग तेज की है और इसकी पहचान व लोगों को जगरूक करने के लिए पोर्टल द्वारा सही जानकारी उपलब्‍ध करा रही है। कुछ स्‍टेप के माध्‍यम से हम आपको बताएंगे कि आप अपने प्रमाण पत्र की जांच कैसे कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Aadhar Card जारी करने वाली संस्‍था UIDAI ने आधार प्रमाणीकरण शुल्क घटाया, अब सिर्फ इतना लगेगा
स्‍टेप 1: CoWIN की आधिकारिक वेबसाइट (cowin.gov.in) पर जाएं और ऊपर दाईं ओर ‘प्लेटफ़ॉर्म’ विकल्प खोजें। यहां, ‘प्रमाणपत्र सत्यापित करें’ चुनें या उपयोगकर्ता सीधे http://www.verify.cowin.gov.in पर जा सकते हैं।

स्‍टेप 2: आपको एक हरे रंग का बटन मिलेगा जिसमें लिखा होगा कि ‘क्यूआर स्कैन करें’। उपयोगकर्ताओं को ध्यान देना चाहिए कि प्लेटफॉर्म को काम करने के लिए कैमरे की अनुमति की आवश्यकता होगी।
स्‍टेप 3: हरे रंग का बटन दबाते ही कैमरा सक्रिय हो जाएगा और आप आसानी से अपके प्रमाण पत्र पर दिए गए क्‍यूआर कोड को स्‍कैन कर सकते हैं।

स्‍टेप 4: यदि आपका प्रमाणपत्र प्रामाणिक है, तो स्क्रीन पर ‘प्रमाणपत्र सफलतापूर्वक सत्यापित’ कहते हुए एक पुष्टि प्रदर्शित होगी। स्क्रीन व्यक्तिगत जानकारी जैसे नाम, आयु, लिंग, प्रमाणपत्र आईडी, वैक्सीन का नाम आदि प्रदर्शित करेगी। यदि प्रमाणपत्र नकली है , एक संदेश बॉक्स दिखाई देगा जिस पर लिखा होगा ‘प्रमाणपत्र अमान्य’।

यह भी पढ़ें: PM Kisan की किस्त पाने के लिए 30 सितंबर है आखिरी तारीख! नहीं किया रजिस्टर, तो इस तरह झटपट कर लें पूरा

85.42 करोड़ से अधिक को लग चुका है टीका
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि 29 सितंबर तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 85.42 करोड़ से अधिक COVID-19 वैक्सीन खुराक प्रदान की जा चुकी हैं। इसके अलावा, 83.80 लाख से अधिक खुराक पाइपलाइन में हैं। मंत्रालय ने कहा कि 4.57 करोड़ से अधिक शेष और अप्रयुक्त COVID-19 वैक्सीन खुराक अभी भी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पास उपलब्ध हैं।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट