scorecardresearch

Diesel Cars Ban: दिल्‍ली-NCR में डीजल कार बैन होने के बाद ये होंगे विकल्‍प, नहीं होगा नुकसान

Ban On BS 4 Diesel Vehicle, Diesel Cars With BS 4 Engines To Be Banned In Delhi From 1st October 2022: वहीं स्‍टेज 3 का यह भी मतलब है कि दिल्ली-एनसीआर में राज्य सरकारें बीएस 3 पेट्रोल और बीएस 4 पर प्रतिबंध लगा सकती हैं।

Diesel Cars Ban: दिल्‍ली-NCR में डीजल कार बैन होने के बाद ये होंगे विकल्‍प, नहीं होगा नुकसान
डीजल कारों पर प्रतिबंध 1 अक्टूबर 2022 से, Diesel Cars Ban (फाइल फोटो)

Diesel Vehicle With BS 4 Engines Ban: अगर आपके पास भी डीजल से चलने वाली BS 4 इंजन वाली कार है, तो 1 अक्‍टूबर 2022 से दिल्‍ली-NCR में आपको एंट्री नहीं मिलेगी। एयर क्‍वालिटि मैनेजमेंट के आयोग (CAQM) ने एक नई पॉलिसी जारी की है। इसके अनुसार, BS 4 इंजन वाली कार्स नेशनल कैपिटल एरिया यानी दिल्‍ली-एनसीआर क्षेत्र में प्रतिबंधित हो सकता है। हालाकि यह तभी होगा, जब वायु प्रदूषण का स्तर 450 वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) के निशान से अधिक हो जाएगा।

गौर करने वाली बात है कि इस साल अभी दिवाली का त्‍योहार आने वाला है, जब आतिशबाजी होती है। वहीं हरियाणा और पंजाब में पराली जलाने जैसे कारणों से दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में वायु गुणवत्ता बिगड़ती है। इस दौरान नई नीति के तहत क्षेत्र में बीएस4 इंजन वाले चार पहिया वाहनों पर रोक लग सकती है। हालांकि इस समय के दौरान कुछ आवश्यक वाहनों के लिए छूट दिया जाएगा।

क्‍यों लगाया जाएगा प्रतिबंध

नई पॉलिसी के अनुसार, इन वाहनों की एंट्री प्रदूषण को कंट्रोल करने के लिए लगाया जा रहा है। एयर प्रदूषण तीसरे स्‍टेज पर भी पहुंच जाता है तो भी इन वाहनों की एंट्री पर बैन लगा दिया जाएगा। वहीं पर्यावरण और वन मंत्रालय द्वारा अनुमोदित एक ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान के तहत स्‍पष्‍ट किया गया है कि वायु प्रदूषण के चरण 3 का मतलब है कि एक्यूआई 401 और 450 के बीच में होता है।

वहीं स्‍टेज 3 का यह भी मतलब है कि दिल्ली-एनसीआर में राज्य सरकारें बीएस 3 पेट्रोल और बीएस 4 पर प्रतिबंध लगा सकती हैं। चरण 3 के तहत डीजल हल्के मोटर वाहन (चार पहिया वाहन) पर भी बैन लग सकता है।

प्रदूषण-अंडर-चेक प्रमाणपत्र नहीं होने पर लगेगी रोक

एक और बड़ा बदलाव जो नीति लाने की है, वह दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में ईंधन पंपों को उन वाहनों को ईंधन देने पर रोक लगा रहा है, जिनके पास वैध प्रदूषण-अंडर-चेक प्रमाणपत्र नहीं है। यह 1 जनवरी, 2023 से प्रभावी होगा।

इन वाहनों को मिलेगी एंट्री

वहीं BS4 वाहनों के बैन के बाद कई ऐसे वाहन है, जिन्‍हें अनुमति दी जाएगी। इसमें इमरजेंसी और जरूरी वाहने शामिल हैं। नीति के तहत एंबुलेंस, वाणिज्‍य कार्य के लिए जरूरी वाहन, हल्‍के वाहन और अनु‍मति प्राप्‍त वाहनों की एंट्री रहेगी।

क्‍या होगा विकल्‍प

सरकार ने बताया है कि अगर आपके पास भी बीएस4 वाली कार है तो आप अपने वाहनों को स्‍कैप पॉलिसी के तहत जमा करा सकते हैं। साथ ही उन राज्‍यों में अपने कार की सेल कर सकते हैं, जहां पर यह प्रतिबंधित नहीं हैं। इसके अलावा आप अपने वाहन को सीएनजी और एलएनजी ईंधन में बदल सकते हैं। ऐसे में आपको बैन हो चुकी कार को लेकर नुकसान का भी सामना नहीं करना पड़ेगा।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट