ताज़ा खबर
 

महिला यात्रियों के लिए अच्‍छी खबर! इस ट्रेन में खरीद सकेंगी सैनिटरी पैड

पटना-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस में सैनिटरी पैड बेचने की मशीन लगाने की कवायद शुरू की है। जल्द ही यह मशीन राजधानी एक्सप्रेस में लगाई जाएगी। इसके बाद सैनिटरी पैड मशीन वाली यह देश की तीसरी ट्रेन बन जाएगी।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

भारतीय रेल यात्रियों की सुविधा और सुरक्षा बढ़ाने की दिशा में लगातार प्रयासरत है। इसी कड़ी में महिला यात्रियों को ध्यान में रखते हुए पूर्व मध्य रेल के दानापुर डिविजन ने राजेंद्र नगर (पटना)-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस में सैनिटरी पैड बेचने की मशीन लगाने की कवायद शुरू की है। जल्द ही यह मशीन राजधानी एक्सप्रेस में लगाई जाएगी। इसके बाद सैनिटरी पैड मशीन वाली यह देश की तीसरी ट्रेन बन जाएगी। मशीन पैंट्रीकार के समीप रखी जाएगी। मशीन से मिलने वाली एक पैड की कीमत महज पांच रुपये होगी। इससे पहले मुंबई-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस और भुवनेश्वर से जगदलपुर (मध्य प्रदेश) के बीच चलने वाली हीराखंड एक्सप्रेस में ऐसी मशीन लग चुकी है। वर्ष 2018 में विश्व महिला दिवस के अवसर पर मुबई-नई दिल्ली ट्रेन में सैनिटरी वेंडिंग मशीन लगाई गई थी।

एचटी के अनुसार, दानापुर डिविजन के डीआरएम आरपी ठाकुर ने कहा, “हमने मशीन लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। जरूरतमंद पांच रुपये का सिक्का मशीन में डालकर एक पैड प्राप्त कर सकते हैं।” ठाकुर ने यह भी कहा कि राजेंद्र नगर-पटना संपूर्णक्रांति एक्सप्रेस में भी सैनिटरी डिस्पैंसिंग मशीन लगेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा, “पटना-दिल्ली ट्रेन में लगे हुए दो जेनरेटर यान की जगह दो स्लीपर बोगी लगाई जाएगी। इससे 140 स्लीपर बर्थ की संख्या बढ़ जाएगी। ज्यादा यात्रियों का बर्थ कंफर्म हो पाएगा। हालांकि, अभी इस बदलाव में थोड़ा वक्त लगेगा।” दरअसल, पहले इन ये ट्रेनें डीजल इंजन से चलती थी, जिन्हें बाद में इलेक्ट्रिक इंजन से बदल दिया गया। अब ट्रेनों को सीधे इलेक्ट्रिक तार से पावर मिलता है।

वहीं, रेलवे हवाईअड्डों की ही तरह स्टेशनों को सील करने और ट्रेनों के तय प्रस्थान समय से कुछ समय पहले प्रवेश की अनुमति बंद करने की योजना बना रहा है। यात्रियों को सुरक्षा जांच की प्रक्रिया पूरी करने के लिए 15 से 20 मिनट पहले पहुंचना होगा। इस सुरक्षा योजना को इस महीने शुरू हो रहे कुंभ मेला के मद्देनजर इलाहाबाद में और कर्नाटक के हुबली रेलवे स्टेशन पर पहले से ही शुरू कर दिया गया है। साथ ही 202 रेलवे स्टेशनों पर योजना को लागू करने के लिए खाका तैयार कर लिया गया है। (एजेंसी इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App