ताज़ा खबर
 

कोरोना संकट के बीच SBI ग्राहकों को राहत, ब्याज दर में 0.75% की भारी कटौती, EMI घटी

नई ब्याज दर एक अप्रैल 2020 से लागू होंगी। बैंक का यह फैसला रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के रेपो दर में कटौती के बाद आया है।

(फोटोः Freepik)

कोरोना वायरस संकट के बीच स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने ब्जाज दर में 0.75% की भारी कटौती की है। बैंक के इस फैसले के बाद आपकी ईएमआई की रकम घट जाएगी। बैंक का यह फैसला रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के रेपो दर में कटौती के बाद आया है।

नई ब्याज दर एक अप्रैल 2020 से लागू होंगी। एसबीआई ने एक वक्तव्य में कहा है कि बाहरी मानक दर से जुड़ी कर्ज दर को 7.80 प्रतिशत से घटाकर 7.05 प्रतिशत वार्षिक कर दिया गया है जबकि आरएलएलआर को 7.40 प्रतिशत से घटाकर 6.65 प्रतिशत पर ला दिया गया है।

SBI के इस फैसले के बाद कर्जधारकों को होम लोन पर ब्याज दरों में कटौती का फायदा होगा। इसके अलावा एसबीआई ने फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरों में भी कटौती की है जो 28 मार्च यानि शनिवार से प्रभावी हैं।

RBI ने रेपो रेट में भी 75 बेसिस पॉइट्स की बड़ी कटौती का ऐलान किया। कर्मचारियों को बड़ी राहत देते हुए रिजर्व बैंक ने टर्म लोन की ईएमआई यानी मासिक किस्तों को चुकाने में तीन महीने की छूट दी है।

SBI में सोना जमा कर एफडी करवाएं: कोरोना संकट के बीच आपके घर पर पड़ा सोना आपके काम आ सकता है। एसबीआई ग्राहकों को गोल्ड पर एफडी की सुविधा देता है। रिवैम्प्ड गोल्ड डिपॉजिट स्कीम के तहत ग्राहक 1-3 साल, मीडियम टर्म गवर्नमेंट डिपॉजिट और लॉन्ग टर्म गवर्नमेंट डिपॉजिट की एफडी करवा सकते हैं।

ग्राहकों को इन पर 0.50 से लेकर 2.50 फीसदी सालाना की दर से ब्याज दिया जा रहा है। बैंक में गोल्ड की एफडी करवाकर आपका सोना भी सुरक्षित रहता है और आपकी जेब में पैसा भी आता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कहीं आपके आस-पास कोरोना मरीज तो नहीं? इस एप से लगाए पता, सरकार ने की लॉन्च
2 नौकरी छूट जाए तो भी 2 साल तक खाते में आएंगे पैसे, अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के जरिए खाते में होंगे ट्रांसफर
3 Kisan Credit Card के जरिए पाएं डेढ़ लाख का लोन वो भी बिना गारंटी, 3 लाख का लोन 4 फीसदी ब्याज पर!