scorecardresearch

PM Awas के नाम पर ठगीः 500 से अधिक को शातिरों ने यूं बनाया शिकार, जानिए कैसे दिया अपराध को अंजाम

PM Awas : अगर आप पीएम आवास योजना में ठगी का शिकार होने से बचना चाहते है तो इसके लिए आपको सतर्क रहना होगा और किसी भी अनजान व्यक्ति की कॉल पर बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर न करे। वहीं जरा भी शंका हो तो तुरंत शिकायत दर्ज कराए।

PM Awas Yojana, PM Awas Scheme, PM Awas Fraud
पीएम आवास योजना में ठगी का शिकार होने से बचना चाहते है तो इसके लिए आपको सतर्क रहना होगा।

केंद्र सरकार ने सभी देशवासियों को अपना घर उपलब्ध कराने के लिए पीएम आवास योजना शुरू की थी। जिसमें लाभ लेकर बहुत से लोगों का आपना घर हो गया है। लेकिन बीते काफी समय से देश के अलग-अलग शहरों में पीमए आवास योजना के नाम पर ठगी की खबर आ रही हैं। जिसमें शातिर अपराधी भोलेभाले लोगों को अपने जाल में फसा कर लाखों की ठगी को अंजमा दे रहे हैं। अगर आपने भी पीएम आवास योजना में अप्लाई किया है तो सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि हो सकता है कि, अगला ठगी का नंबर आपका हो।

कैसे बनाते हैं ठगी का शिकार – शातिर अपराधी पीमए आवास योजना का अधिकारी बनकर लोगों को फोन करते है और उनको बताते है कि, आपका मकान फाइनल हो गया है। लेकिन इससे पहले कुछ फीस जमा करनी होगी और एक फॉर्म भरना होगा। बातों में आकार बहुत से लोग ठगों के बताए अकाउंट में पैसे भी ट्रांसफर कर देते हैं। वहीं कई मामाले में देखने में मिला है कि, ठगों ने पीएम आवास की फर्जी वेबसाइट बना रखी है। जिस पर आवेदन करने वालों को अपना निशाना बनाते हैं।

हाल ही में कानपुर क्राइम ब्रांच ने ऐसे ही एक मामले का खुलासा करके 6 आरोपियों को पकड़ा है जिन्होंने देश के अलग-अलग शहरों में 500 से ज्यादा लोगों को ठगी का शिकार बनाया है। इसके लिए शातिर अपराधियों ने सबसे पहले पीएम आवास योजना में आवेदन करने वाले लोगों की डिटेल्स हासिल की इसके बाद लोगों से कॉल करके कहते थे कि, वह पीएम आवास योजना के अधिकारी बोल रहे हैं और उनकी कॉलोनी कंफर्म हो गई है। अगर वह उसमें पीएम आवास योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो उन्हें कुछ रकम फीस के तौर पर अकाउंट में जमा करानी होगी।

लाभ दिलाने के लिए मांगी जाती है रिश्वत – कई बार सुनने में आता है कि, ग्रामीण क्षेत्र में पीएम आवास योजना का लाभ दिलाने के लिए सरपंच, पंचायत सचिव या प्रधान हितग्राही से रिश्वत मांगते हैं। अगर आपके साथ ही कुछ ऐसा हुआ है तो इसकी शिकायत की जा सकती है जिसमें 45 दिनों के अंदर कार्रवाई का प्रावधान है।

घटिया मटेरियल यूज हुआ तो करें शिकायत – अगर आपके क्षेत्र में पीएम आवास योजना में ठेकदार या संबंधित अधिकारी निर्माण कार्य में घटिया मेटेरियल यूज कर रहे हैं तो इसकी शिकायत जिला और राज्य स्तर पर पीएम आवास योजना के ऑफिस में की जा सकती है।

ठगी से बचने के लिए रहे सतर्क – अगर आप पीएम आवास योजना में ठगी का शिकार होने से बचना चाहते है तो इसके लिए आपको सतर्क रहना होगा और किसी भी अनजान व्यक्ति की कॉल पर बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर न करे। वहीं जरा भी शंका हो तो तुरंत शिकायत दर्ज कराए।

यह भी पढ़ें: EPFO: UAN पासवर्ड बगैर न हो सकेगा यह काम, पर अगर भूल गए हैं, तब क्या करना होगा?

यहां कर सकते हैं कंप्लेंट – अगर आपको पीएम आवास योजना में किसी भी तरह की परेशानी होती है तो आप ग्राम पंचायत, ब्लॉक, जिला और राज्य स्तर पर शिकायत कर सकते हैं। इसके साथ ही सरकार ने टोल फ्री नंबर 1800-11-3377; 1800-11-3388; 1800-11-6163 दिए हैं जहां कॉल करके शिकायत की जा सकती है।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.