ताज़ा खबर
 

इन बैंकों में है खाता तो हो जाएं अलर्ट! वर्ना हो सकते हैं ठगी के शिकार

रिपोर्ट के मुताबिक साइबर ठग इनकम टैक्स रिफंड के डिस्बर्समेंट का लालच देकर लोगों को अपने झांसे में फंसा रहे हैं। इस दौरान उन्हें एक लिंक भी दिया जा रहा है जो कि इनकम टैक्स ई-फाइलिंग वेब पेज पर रिडायरेक्ट करता है।

Economyसांकेतिक फोटो।

साइबर ठग लोगों को ठगने के लिए नए-नए तरीके अपनाते हैं। कई लोग इनके झांसे में आ जाते हैं और गलती कर बैठते हैं। साइबर ठग लोगों के बैंक खाते से जुड़ी निजी जानकारियां जुटा कर ठगी को अंजाम देते हैं। थिंक टैंक साइबरपीस फाउंडेशन और साइबर सिक्योरिटी कंपनी ऑटोबोट इंफोसेक की जांच में नई जानकारी सामने आई है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि साइबर ठग State Bank of India, ICICI, HDFC, Axis Bank and Punjab National Bank के ग्राहकों के निजी डेटा को चुराने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे में इन बैंक के ग्राहकों को खासतौर पर अलर्ट रहने की जरुरत है। साइबर ठग फिशिंग के जरिए लोगों को चूना लगाने की कोशिश कर रहे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक साइबर ठग इनकम टैक्स रिफंड के डिस्बर्समेंट का लालच देकर लोगों को अपने झांसे में फंसा रहे हैं। इस दौरान उन्हें एक लिंक भी दिया जा रहा है जो कि इनकम टैक्स ई-फाइलिंग वेब पेज (income tax e-filing web page) पर ले जाता है। इसके बाद जैसे ही यूजर्स इस लिंक पर क्लिक करता है उन्हें ‘Proceed to the verification steps’ पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है।

इसपर क्लिक करते ही PAN, Aadhar number, address, pincode, date of birth, mobile number, email address, gender, marital status बैंकिंग पर्सनल इन्फॉर्मेंशन जैसे account number, IFSC code, card number, expiry date, CVV/CVC and card PIN आदि की जानकारी मांगी जा रही है।

ठग इस लिंक में सुरक्षित ‘https’ के बजाय ‘http’ का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके अलावा यूजर्स को Google Playstore या App स्टोर के बजाय किसी थर्ड पार्टी सोर्स से मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए कहा जा रहा है।

Next Stories
1 20 से 30 हजार रु की रेंज में यहां मिल रही पुरानी बाइक्स, एक बाइक तो देती है 81 KMPL की माइलेज
2 पुरानी Maruti Celerio खरीदनी है तो यहां मिल रही, जानें प्राइस और अन्य डिटेल
3 8 हजार रुपये देकर घर ले जाएं PURE EV Epluto 7G इलेक्ट्रिक स्कूटर, इतनी चुकानी होगी EMI
ये पढ़ा क्या?
X