ताज़ा खबर
 

पुलिसवाले को फोन कर मांग रहा था SBI debit card की डिटेल, सिखाया ऐसा सबक कि हर कोई कर रहा तारीफ

एसबीआई ने रीट्वीट में लिखा, ''इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे किस बैंक से कॉल कर रहे हैं, यह जवाब निश्चित तौर पर जालसाजों को आपको फिर से कॉल करने से पहले दो बार सोचने को मजबूर करेगा।''

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

बैंक का प्रतिनिधि बनकर कॉल करने वाले एक जालसाज को बैंगलूरु के एक पुलिसवाले ने ऐसा जवाब दिया कि उसकी सोशल मीडिया पर खूब सराहना हो रही है। पुलिसवाले ने अपना अनुभव ट्वीट कर साझा किया है। BCP MAN नाम के अपने आधिकारिक हैंडल से किए ट्वीट में पुलिसवाले ने पूरी बातचीत लिखी जो इस प्रकार है, ”गुड मॉर्निंग मैडम, मैं एसबीआई से कॉल कर रहा हूं। क्या आप एटीएम कार्ड अपग्रेड करने के लिए कृपया अपने एसबीआई डेबिट कार्ड की डिटेल्य उपलब्ध करा सकते हैं? ओह, माफ करना मेरा कार्ड मेरे दोस्त के पास है, क्या आप कृपया मेरे दोस्त को फोन करके डिटेल्स ले सकते हैं? हां मैम, क्या मैं आपके दोस्त का नंबर ले सकता हूं? बिल्कुल, कृपया नंबर नोट करें- 100।” पुलिसवाले के इस जवाब को भारतीय स्टेट बैंक ने भी रीट्वीट किया है। एसबीआई ने रीट्वीट में लिखा, ”इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे किस बैंक से कॉल कर रहे हैं, यह जवाब निश्चित तौर पर जालसाजों को आपको फिर से कॉल करने से पहले दो बार सोचने को मजबूर करेगा।”

यहां कुछ सुरक्षित बैंकिंग तरीके बताए जा रहे हैं जो एसबीआई, आईसीआईसीआई और एचडीएफसी जैसे प्रतिष्ठित बैंकों ने अपने ग्राहकों के लिए जारी की हैं। 1. बैंक या उनका कोई भी प्रतिनिधि ग्रहकों को कभी भी ईमेल, एसएमएस या कॉल के जरिये उनकी पर्सनल इन्फॉर्मेशन जैसे कि पासवर्ड, वन टाइम पासवर्ड आदि नहीं मांगता है।

2. ऐसी ईमेल, एसएमएस या कॉल का जवाब कभी नहीं दें। 3. कोई भी व्यक्तिगत या गोपनीय जानकारी न दें। 4. कभी भी अपनी व्यक्तिगत जानकारी जैसे पासवर्ड या पिन साझा न करें। 5. नौकरी की पेशकश करने लॉटरी जीतने का दावा करने वाले ईमेल को अपने बैंक खाते का विवरण न दें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App