scorecardresearch

बेंगलुरु का पहला एयरपोर्ट जैसा रेलवे स्‍टेशन, जानें क्‍या है इसकी खासियत

सर एम विश्वेश्वरैया टर्मिनल का काम दिसंबर 2018 में पूरा होने वाला था, लेकिन यह मार्च 2021 में तैयार हुआ। हालांकि, इसके औपचारिक उद्घाटन में देरी हुई क्योंकि प्रधानमंत्री कार्यालय से तारीख नहीं मिल रही थी।

Visvesvaraya terminal| bengaluru ac railway station
सर एम विश्वेश्वरैया टर्मिनल (photo source- twitter/@PiyushGoyal)

देश का पहला सेंट्रलाइज्ड एयर कंडीशनर रेलवे टर्मिनल बेंगलुरु में बनकर तैयार है। इसका नाम सिविल इंजीनियर सर एम विश्वेश्वरैया के नाम पर रखा गया है। इस टर्मिनल पर रेल सेवाएं सोमवार (6 जून 2022) से शुरू हो जाएंगी। पहले चरण में दक्षिण पश्चिम रेलवे इस स्टेशन से तीन ट्रेनों का संचालन करेगा।

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस: 314 करोड़ रुपए के लागत से बने सर एम विश्वेश्वरैया टर्मिनल का संचालन बिना किसी धूमधाम के शुरू होगा। हालांकि, इसका औपचारिक उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाद में कर सकते हैं। भारत रत्न सर एम विश्वेश्वरैया के नाम पर बेंगलुरु के बैयप्पनहल्ली क्षेत्र में स्थित यह रेलवे टर्मिनल अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है और एयरपोर्ट जैसी झलक पेश करता है।

देश का पहला सेंट्रलाइज्ड एसी रेलवे टर्मिनल: सर एम विश्वेश्वरैया टर्मिनल का निर्माण 4,200 वर्गमीटर में किया गया है। स्टेशन पर दो सब-वे के साथ एक फुट ओवरब्रिज सभी प्लेटफार्मों को एक-दूसरे से जोड़ेगा। टर्मिनल में आठ स्टेबल लाइन और तीन पिट लाइन के अलावा सात प्लेटफॉर्म हैं। यात्रियों के आवागमन को सुविधाजनक बनाने के लिए एस्केलेटर और लिफ्ट सभी प्लेटफार्मों को जोड़ेंगे।

इसकी क्षमता के तहत प्रतिदिन औसतन 50 ट्रेनों के साथ प्रतिदिन 50 हजार से अधिक यात्रियों के आने की उम्मीद है। इतना ही नहीं टर्मिनल में 200 कारों और 900 दोपहिया वाहनों के लिए पार्किंग की जगह दी गई है। सर एम विश्वेश्वरैया टर्मिनल में एक वास्तविक समय यात्री सूचना प्रणाली, वीआईपी लाउंज और एक फूड कोर्ट है। यात्रियों को साफ पानी उपलब्ध कराने के लिए सर एमवी टर्मिनल पर चार लाख लीटर की क्षमता वाला री-साइकलिंग यूनिट भी लगा है।

साउथ वेस्ट रेलवे के सूत्रों के मुताबिक, लगभग 30 लंबी दूरी की ट्रेनों को सर एमवी टर्मिनल पर स्थानांतरित करने की संभावना है। रेलवे बोर्ड ने पहले ही 28 लंबी दूरी की ट्रेनों को नए टर्मिनल पर स्थानांतरित करने की मंजूरी दे दी है, लेकिन यह चरणों में किया जाएगा। रेलवे मौजूदा ट्रेनों के अलावा नए टर्मिनल से कुछ नयी ट्रेनों का भी संचालन करेगा। इससे पहले रेलवे ने निजी कंपनियों को यहां से लंबी दूरी की ट्रेनों के संचालन की अनुमति देने की योजना बनाई थी।

पानी के लिए री-साइकलिंग यूनिट: सर एमवी टर्मिनल का स्ट्रक्चर देवनहल्ली में केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की वास्तुकला से प्रेरित है। यहां से तीन साप्ताहिक ट्रेन चलेंगी। इसमें एर्नाकुलम हफ्ते में तीन दिन, कोचुवेली एक्सप्रेस हफ्ते में दो दिन और पटना हमसफर हफ्ते में एक दिन चलेगी।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X