ताज़ा खबर
 

1 जुलाई से बदल रहे कई बैंकिंग रूल्स, आपके बैंक अकाउंट पर पड़ेगा ये असर

बैंक से जुड़े नियमों का असर सीधा आपके खाते और आपको बैंक की तरफ से मिलने वाली सर्विस पर पड़ता है।ऐसे में आपके लिए ये जानना जरूरी हो जाता है कि बैंक किन नए नियमों को अपना रहे हैं।

bank loanबैंक में खड़े ग्राहक।

बैंकिंग क्षेत्र से जुड़े कुछ नियम 1 जुलाई से बदलने जा रहे हैं। इन नियमों के बदलने का असर आपके बैंकिंग कामकाज और खातों पर पड़ेगा। अगले महीने से एटीएम से कैश निकासी, ब्याज दर, औसत न्यूनतम बैलेंस के नियम में बदलाव होगा। बैंक से जुड़े नियमों का असर सीधा आपके खाते और आपको बैंक की तरफ से मिलने वाली सर्विस पर पड़ता है।ऐसे में आपके लिए ये जानना जरूरी हो जाता है कि बैंक किन नए नियमों को अपना रहे हैं।

सबसे पहले बात करते हैं औसत न्यूनतम बैलेंस की तो कोरोना संकट के हमारे देश में फैलने के कुछ दिन बाद ही केंद्र सरकार ने फैसला लिया था कि बचत खातों पर औसत न्यूनतम बैलेंस रखने की अनिवार्यता 30 जून तक होगी लेकिन इस डेडलाइन के बाद औसत न्यूनतम बैलेंस रखने की ये मियाद खत्म हो रही है। ऐसे में खाताधारकों को अपने अकाउंट में मिनिमम बैलेंस रखना होगा। अगर वे ऐसा नहीं करते तो बैंक उनसे पेनाल्टी वसूल करेगा।

इसके अलावा 1 जुलाई से एटीएम से कैश निकालने के नियम में बदला होने जा रहे हैं। एटीएम कैश निकासी 1 जुलाई से आपके लिए महंगी हो जाएगी। औसत न्यूनतम बैलेंस की अनिवार्यता जिस तरह तीन महीने के लिए 30 जून तक हटा दी गई थी ठीक इसी तरह एटीएम कैश निकासी पर भी किसी तरह का चार्ज नहीं वसूला जा रहा था।

इसकी मियाद भी 30 जून को खत्म हो रही है। ऐसे में अब ग्राहकों को पहले की तरह ही एटीएम से कैश निकासी पर चार्ज देना होगा। वहीं पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने सेविंग अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर में 0.50 फीसदी की कटौती की है। 1 जुलाई से बैंक के बचत खाते पर अधिकतम 3.25 फीसदी का सालाना ब्याज मिलेगा।

Next Stories
1 हर महीने 595 रुपये का निवेश कर बन सकते हैं लखपति, जानें क्या है इस सरकारी बैंक की ये पूरी स्कीम
2 7th Pay Commission: इन सरकारी कर्मियों के मंहगाई भत्तों पर रोक, कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार से मांग जवाब
3 Indian Railway, IRCTC: इस तारीख तक बुक ट्रेन टिकट पर रिफंड, अगस्त की शुरुआत तक पहले जैसी रेग्युलर पैसेंजर ट्रेन सेवाएं नहीं!
ये पढ़ा क्या?
X