ताज़ा खबर
 

बैंक नहीं सुन रहे समस्या तो यहां करें शिकायत, जानें Banking Ombudsman से संपर्क का तरीका

यदि आपके साथ कोई धोखाधड़ी हुई है तो 3 दिन के अंदर इसकी सूचना संबंधित बैंक को दें। यदि आप तीन दिनों के बाद और सात कार्य दिवसों के भीतर एक संदिग्ध लेन-देन की रिपोर्ट करते हैं, तो अधिकतम देयता 25,000 रुपये हो जाएगी।

आप शिकायत ऑनलाइन (https://secweb.rbi.org.in/BO/precompltindia.com) पर भी दर्ज कर सकते हैं।

यदि आप अपने बैंक की शिकायत निवारण प्रक्रिया से संतुष्ट नहीं हैं, तो आप बैंकिंग लोकपाल के पास शिकायत दर्ज कर सकते हैं। हालांकि, आपको इस तरह की शिकायत दर्ज कराने के लिए एक निश्चित प्रक्रिया का पालन करने की आवश्यकता है। आज हम आपको इसी से संबंधित जानकारी देने जा रहे हैं।
1- अपने बैंक में शिकायत दर्ज करें न कि बैंकिंग लोकपाल (बीओ) कार्यालयों से।
2- यदि 30 दिनों के भीतर जवाब नहीं मिलता है या जवाब संतोषजनक नहीं है, तो लोकपाल से संपर्क करें। लोकपाल से संपर्क करने का समय जवाब मिलने के एक साल तक या शिकायत दर्ज करने के एक साल तक होता है।
3- उस बैंकिंग लोकपाल को शिकायत करें जिसके अधिकार क्षेत्र में बैंक की शाखा या कार्यालय स्थित है। कार्ड से संबंधित शिकायतों या केंद्रीयकृत परिचालन से संबंधित के लिए, आपका बिलिंग एड्रेस बैंकिंग लोकपाल के अधिकार क्षेत्र को निर्धारित करेगा।

4- लिखित शिकायत के लिए, www.bankingombudsman.rbi.org.in पर उपलब्ध फॉर्म को डाउनलोड करके, प्रिंट निकाल लें और भरकर सबमिट करें। इसमें नाम, पता, शिकायत के आसपास के तथ्य, नुकसान और राहत की मांग बताएं।
5- उन दस्तावेजों की प्रतियां जमा करें, जो शिकायत फॉर्म के साथ आपके मामले का समर्थन करते हैं।
6- आप शिकायत ऑनलाइन (https://secweb.rbi.org.in/BO/precompltindia.com) पर भी दर्ज कर सकते हैं।

7- यदि आप लोकपाल के आदेश से असंतुष्ट हैं, तो आप कंज्यूमर कोर्ट जा सकते हैं।

यदि आपके साथ कोई धोखाधड़ी हुई है तो 3 दिन के अंदर इसकी सूचना संबंधित बैंक को दें। अगर 3 दिन के  भीतर इसकी जानकारी बैंक को नहीं देते हैं तो आपका पैसा डूब सकता है। नियम के मुताबिक 3 दिन के भीतर धोखाधड़ी की जानकारी बैंक को देने पर आपका पूरा पैसा बैंक देगी। अगर धोखाधड़ी की जानकारी 3 दिन के बाद और 7 दिन (वर्किंग डे) से पहले देते हैं तो उस स्थिति में बैंक नियम के मुताबिक आपको केवल 25,000 रुपए तक का ही भुगतान करेगा। चाहे आपके खाते से एक लाख रुपए क्यों न कटे हों। ज्यादा पैसा देना संबंधित बैंक के विवेक पर निर्भर करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App