ताज़ा खबर
 

Baal Aadhaar: 5 साल से छोटे बच्चे का कैसे बनेगा Aadhaar Card और क्या चाहिए होंगे दस्तावेज? जानें

How to make Baal Aadhaar, Full Process and Documents needed by Aadhaar UIDAI in Hindi: अगर बच्चे के फिंगरप्रिंट्स व बायोमीट्रिक डेटा मैच नहीं करेंगे, तब आवेदक को डेटा में अपडेशन कराना होगा। आप यह काम ऑनलाइन भी करा सकते हैं।

How to make Baal Aadhaar, Full Process and Documents needed by Aadhaar UIDAI in Hindi: Aadhaar Card हर नागरिक की पहचान से जुड़ा अहम दस्तावेज बन चुका है। बूढ़े हो या छोटे बच्चे, यह सभी के लिए जरूरी है। पांच साल से कम के बच्चों के लिए भी। यह उनके स्कूल में दाखिले, मिड-डे मील संबंधी प्रावधानों से लेकर रेल टिकट खरीदने में काम आ सकता है। यही नहीं, Unique Identification Authority of India (UIDAI) द्वारा जारी की गई आधार संख्या उनकी पहचान, पते और जन्मतिथि के प्रमाण के तौर पर भी काम आती है। आइए जानते हैं कि छोटे बच्चों का आधार कैसे बनता है और इस स्थिति में कौन-कौन से दस्तावेज चाहिए होते हैं।

5 साल से कम के बच्चों के लिएः बच्चों के आधार कार्ड को बाल आधार (Baal Aadhaar) भी कहा जाता है। यह नीले रंग का होता है। नजदीकी आधार कार्ड केंद्र जाकर इसके लिए एनरोलमेंट/पंजीकरण कराया जा सकता है। वहां अभिभावक के आधार कार्ड के साथ बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र (Birth Certificate) लगेगा। हालांकि, पांच साल की उम्र तक बच्चे से किसी प्रकार का बायोमीट्रीक डेटा (मसलन फिंगरप्रिंट्स आदि) नहीं लिया जाएगा, पर इस समयकाल तक उसका आधार पैरेंट्स के आधार से लिंक रहेगा। ऐसा इसलिए भी, क्योंकि माना जाता है कि पांच साल तक बच्चों के बायोमीट्रिक्स विकसित नहीं हो पाते हैं।

5 से 15 साल के बच्चों तक के लिएः बच्चा जब पांच साल का हो जाता है, तब उसका बायोमीट्रिक डेटा लिया जाता है। इसमें फिंगरप्रिंट और आयरिस स्कैन शामिल है। हालांकि, बच्चे की उम्र बढ़ने के बाद (पांच साल से बड़ा होने की स्थिति में) उसके आधार में कोई बदलाव नहीं होगा, पर उसके 15 साल के होने पर उसका बायोमीट्रिक डेटा अपडेट कराना जरूरी हो जाएगा। आधार के रिकॉर्ड में यही डेटा फाइनल डेटा माना जाएगा।

कैसे बनवाएं?: Aadhaar Enrolment Centre पर Aadhaar Enrolment Form भरना होगा। पांच साल से कम उम्र के बच्चे का एक फोटो लगेगा, जिसके साथ बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र और पैरेंट्स का आधार लगेगा। बच्चे की उम्र पांच से अधिक होने पर जन्म प्रमाण पत्र के अलावा स्कूल का आईडी कार्ड/बोनाफाइड स्टेटमेंट भी चल जाएगा। बायोमीट्रिक्स में बच्चे के फिंगरप्रिंट्स, आयरिस स्कैन और फोटो लगेंगे। बाद में उसके 15 साल की उम्र होने पर ये डेटा अपडेट कराना पड़ेगा। पैरेंट्स का आधार कार्ड भी जमा कराना होगा। और, अगर बच्चे के फिंगरप्रिंट्स व बायोमीट्रिक डेटा मैच नहीं करेंगे, तब आवेदक को डेटा में अपडेशन कराना होगा। आप यह काम ऑनलाइन भी करा सकते हैं, जिसके लिए UIDAI की आधिकारिक साइट का रुख करना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आधार बनाने के लिए रेंट एग्रीमेंट दिया है तो एड्रेस अपडेट कराते समय इस बात का रखें ध्यान, UIADI ने दी जानकारी
2 Paytm यूजर हैं तो पढ़ लें ये खबर, 3500 फोन नंबरों से रहें सावधान, वरना जीरो हो जाएगा बैंक अकाउंट
3 इनकम टैक्स से आए किसी भी मेल से रहें सावधान! डिपार्टमेंट ने जारी किए सरकारी ई-मेल और SMS आईडी, देखें- लिस्ट
ये पढ़ा क्या?
X