ताज़ा खबर
 

SBI ग्राहकों ध्यान दें! 1 जुलाई से होने जा रहा ये बदलाव

एसबीआई के मुताबिक बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट (BSBD) पर ही यह बदलाव लागू होने जा रहा है। एसबीआई बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खाते को जीरो बैलेंस बचत खाते के रूप में जाना जाता है।

एटीएम से निकाशी। (Source: REUTERS/Danish Siddiqui/File Photo)

देश का सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) 1 जुलाई 2021 से नियम लागू करने जा रहा है। एटीएम और बैंक ब्रांच से पैसे निकालने के सर्विस चार्ज में बदलाव किया गया है। यानी की एटीएम से कैश विड्राल, बैंक ब्रांच में चेक बुक के जरिए विड्राल और अन्य नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन पर लागू होंगे। यानी कि आपको ज्यादा पैसा देना होगा।

एसबीआई के मुताबिक बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट (BSBD) पर ही यह बदलाव लागू होने जा रहा है। एसबीआई बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खाते को जीरो बैलेंस बचत खाते के रूप में जाना जाता है। बैंक के कुल 44 करोड़ खाताधारकों देशभर में मौजूद हैं।

चेक बुक के लिए पहले से ज्यादा पैसा देना होगा। नए नियम के तहत 10 चेक पेज वाली चेक बुक कॉपी के लिए 40 रुपए प्लस जीएसटी का भुगतान करना होगा। वहीं 25 पन्ने वाले चेकबुक के लिए 75 रुपए और इमरजेंसी चेकबुक के लिए 50 रुपए प्लस जीएसटी का भुगतान करना होगा।

चेक बुक से कैश निकासी की सीमा 1 लाख रुपए प्रति होने जा रही है। वहीं थर्ड पार्टी (जिसको चेक जारी किया है) कैश निकालने की सीमा 50 हजार रुपए होने जा रही है।

4 फ्री ट्रांजैक्शन की सीमा पार कर लेने के बाद ग्राहकों को अब 15 रुपए के साथ जीएसटी चार्ज देना होगा। यानी की एटीएम से कैश विड्राल की फ्री लिमिट के खत्म होने पर ग्राहकों को अब और जेब ढीली करनी होगी।

Next Stories
1 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए गए हैं ये फैसले, जानें क्या पड़ रहा असर
2 यहां बिक रही पुरानी बजाज Bajaj Pulsar और Hero Splendor, जानें प्राइस
3 पुरानी Wagon R खरीदनी है तो यहां से खरीद सकते हैं, जानें पूरी डिटेल
ये पढ़ा क्या?
X