scorecardresearch

ATM ट्रांजेक्शन फेल हो गई और बैंक ने समय पर नहीं लौटाया पैसा? हर्जाने के लिए ऐसे करें आवेदन

आरबीआई के नियमों के मुताबिक बैंकों को सात दिन के भीतर खाताधारक को पैसा ट्रांसफर करना होता है। अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो ग्राहक को बैंक द्वारा प्रति दिन 100 रुपये का हर्जाना दिया जाता है।

7 Pay Commission, 7 Pay Commission latest news, 7 Pay Commission update

एटीएम से ट्रांजेक्शन के दौरान कई बार ऐसा होता जब ट्रांजेक्शन फेल हो जाती है। ट्रांजेक्शन फेल होने के बाद बैंक खाताधारक के अकाउंट से पैसा तो काट लिया जाता है लेकिन एटीएम से कैश निकासी नहीं होती। ऐसे में खाताधारकों को समझ नहीं आता कि वे क्या करें और क्या नहीं। डिजीटल ट्रांजेक्शन के दौरान भी कई बार ग्राहकों को परेशानी का सामना करना पड़ जाता है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने इस संबंध में बैंकों को कड़े निर्देश दिए हैं जिसके तहत तय समय पर पैसा नहीं लौटाने पर बैंक को जुर्माना देना होता है। आरबीआई के नियमों के मुताबिक बैंकों को सात दिन के भीतर खाताधारक को पैसा ट्रांसफर करना होता है। अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो ग्राहक को बैंक द्वारा प्रति दिन 100 रुपये का हर्जाना दिया जाता है।

ऐसे कर सकते हैं आवेदन: आवेदन करने से पहले खाताधारकों पर भी कुछ शर्तें लागू होती हैं। मसलन ट्रांजेक्शन फेल होने के 30 दिनों के भीतर बैंक में आवेदन करना होता है। अगर 30 दिन बाद हर्जाने के लिए आवेदन किया जाता है बैंक आवेदन स्वीकार करने के लिए बाध्य नहीं होते।

इसके अलावा प्रूफ के तौर पर ट्रांजेक्शन स्लिप या अकाउंट स्टेटमेंट और एटीएम कार्ड की डिटेल बैंक को देनी होती है। हर्जाने के लिए आवेदन फॉर्म (Annexure 5 Form) भरना होता है। इस फॉर्म को भरकर जमा करने के बाद आपको प्रति दिन (जब से फॉर्म जमा किया हो) 100 रुपये का हर्जाना बैंक की तरफ से दिया जाता है।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X