UIDAI to conduct Aadhaar Hackathon 2021: UIDAI ने बनाया खास पोर्टल, जानें- कौन ले सकता है हिस्सा और क्या हैं नियम?

Aadhaar hackathon 2021 begins today: यूआईडीएआई टीम युवाओं की सहायता के लिए दैनिक आधार पर ऑनलाइन इंटरेक्टिव सत्र भी आयोजित करेगा। अब तक 2700 से अधिक इंजीनियरिंग छात्रों का पंजीकरण हुआ।

Aadhaar Hackathon 2021, UIDAI
Aadhaar Hackathon 2021 Starts Today: हैकथॉन में देश के शीर्ष इंजीनियरिंग संस्थानों की सभी श्रेणियों के युवा भाग ले रहे। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस फाइल)

Aadhaar Hackathon 2021 by UIDAI: “आज़ादी का अमृत महोत्सव” मनाने और भारतीय युवाओं के बीच नवाचार की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए यूआईडीएआई 28 अक्टूबर 2021 से 31 अक्टूबर 2021 तक ‘आधार हैकथॉन 2021’ आयोजित कर रहा है। इसके लिए यूआईडीएआई ने एक खास पोर्टल बनाया है। कोई भी यूआईडीएआई के इस https://hackathon.uidai.gov.in/. पोर्टल पर जाकर पूरी जानकारी ले सकता है। सभी सत्र वेबिनार के माध्यम से होंगे।

हैकाथॉन में दो व्यापक विषयों यानी नामांकन और प्रमाणीकरण के तहत वर्गीकृत कई समस्या वाली बातें शामिल हैं। यूआईडीएआई को पिछले कुछ दिनों में अब तक इंजीनियरिंग छात्रों से 2700 से अधिक पंजीकरण प्राप्त हुए हैं। यह अपने आप में लोगों के सामने वास्तविक जीवन की चुनौतियों को हल करने में युवा मन के झुकाव को बताता है। भागीदारी में इंजीनियरिंग संस्थानों की सभी श्रेणियों यानी IIT, NIT और NIRF और देश के सभी कोनों से कई शीर्ष क्रम के कॉलेजों – अरुणाचल प्रदेश जैसे पूर्वी राज्यों से लेकर उत्तर में जम्मू-कश्मीर तक के छात्र शामिल हैं।

नवाचार के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि “नवाचार केवल एक शब्द या घटना नहीं है। यह एक सतत प्रक्रिया है। आप केवल तभी कुछ नया कर सकते हैं जब आप किसी समस्या को समझते हैं और उसका समाधान निकालने का प्रयास करते हैं। हमें समस्या की जड़ में जाना चाहिए और लीक से हटकर समाधान खोजना चाहिए। उस युग में जहां ज्ञान शक्ति है, नवाचार विकास का चालक है।”

यूआईडीएआई ने इन मार्गदर्शक लाइनों पर लोगों के अनुभव को बढ़ाने और तकनीकी नवाचारों के माध्यम से नामांकन और प्रमाणीकरण सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म के साथ इंटरफेस करने के तरीके को बढ़ाने के लिए ‘आधार हैकथॉन-2021’ शुरू किया है।

यूआईडीएआई के सीईओ डॉ. सौरभ गर्ग ने कहा, “जैसा कि आधार पहले से ही निवासियों को सशक्त बना रहा है, मैं इन प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देता हूं और आशा करता हूं कि हमारे युवा नवप्रवर्तनकर्ता, ‘नए भारत’ के निर्माण स्तंभ के रूप में सामने आएंगे। साथ ही मौजूदा ‘आधार बुनियादी ढांचे’ को और मजबूत करने के लिए कुछ उत्कृष्ट दृष्टिकोण-समाधान पेश करेंगे। इससे अंततः ‘आधार’ से संबंधित सेवाओं का अधिकतम लाभ आम लोगों को मिल सकेगा।”

यूआईडीएआई टीम युवाओं की सहायता के लिए दैनिक आधार पर ऑनलाइन इंटरेक्टिव सत्र भी आयोजित कर रहा है। इन सत्रों में अनिवार्य रूप से समस्या विवरण, यूआईडीएआई एपीआई और उत्पादों के विवरण शामिल हैं। इन सत्रों को युवा प्रतिभागियों ने सराहना की है।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
क‍िसी भी स्‍मार्टफोन में ये समस्‍याएं हैं आम, ऐसे कर सकते हैं समाधान
अपडेट