7th Pay Commission: बेहतर वेतन को लेकर सात दिन से हड़ताल पर अड़े हैं ये कर्मचारी, अफसरों ने दिए संकेत- मांगों पर हो सकता है विचार पर…

7th Pay Commission: अधिकारियों के अनुसार, अब तक राज्य के स्वामित्व वाले निगम ने हड़ताल में भाग लेने और दूसरों से हड़ताल में शामिल होने का अनुरोध करने के लिये विभिन्न डिपो से 2,053 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया।

Indian Rupees, 7th Pay Commission, Gujarat
7th Pay Commission: तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Unsplash)

7th Pay Commission Latest News in Hindi: महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब ने महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) के कर्मचारियों की हड़ताल के सिलसिले में शनिवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात की। हड़ताल का आज सातवां दिन है। एमएसआरटीसी के कर्मचारी सार्वजनिक उपक्रम का राज्य सरकार में विलय करने की मांग को लेकर हड़ताल कर रहे हैं। इस प्रक्रिया से कर्मचारियों को बेहतर वेतन और रोजगार सुरक्षा मिलेगी।

राज्य परिवहन विभाग के अधिकारियों ने संकेत दिया कि कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि और अन्य सुविधाओं पर विचार किया जा सकता है लेकिन विलय का प्रस्ताव जटिल है क्योंकि अन्य सार्वजनिक क्षेत्र के निगम भी इस तरह की मांग उठा सकते हैं। बता दें कि विलय से एमएसआरटीसी के कर्मचारियों को राज्य सरकार के कर्मचारियों का दर्जा मिल जाएगा।

गतिरोध को समाप्त करने के लिए राज्य अतिथिगृह सह्याद्रि में परब और मुख्य सचिव सीताराम कुंते तथा वरिष्ठ अधिकारियों एवं कुछ भाजपा नेताओं की बैठक चल रही है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना अध्यक्ष राज ठाकरे ने शुक्रवार को पवार से मुलाकात की थी और इस मुद्दे पर चर्चा की थी। इससे पहले, महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम के सभी 250 बस डिपो, कर्मचारियों की हड़ताल के कारण शुक्रवार को भी बंद रहे। हालांकि कुछ कर्मचारियों ने परिवहन उपक्रम की कार्यशालाओं में काम फिर से शुरू कर दिया है।

एमएसआरटीसी के एक प्रवक्ता ने बताया था, ”राज्य भर में सभी 250 डिपो बंद हैं, लेकिन कार्यशालाओं के कर्मचारी काम पर लौट आए हैं।” गुरुवार को महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब ने उन कर्मचारियों को पूर्ण सुरक्षा का आश्वासन दिया था, जो ड्यूटी पर फिर से लौटने के इच्छुक हैं। एमएसआरटीसी के अधिकारियों के अनुसार, अब तक राज्य के स्वामित्व वाले निगम ने हड़ताल में भाग लेने और दूसरों से हड़ताल में शामिल होने का अनुरोध करने के लिये विभिन्न डिपो से 2,053 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है। इनमें से 1,135 को बृहस्पतिवार को निलंबित किया गया।

एक अधिकारी ने कहा कि निगम और कर्मचारियों के खिलाफ भी इसी तरह की कार्रवाई कर सकता है। इस बीच, एमएसआरटीसी कर्मचारियों के एक समूह ने दक्षिण मुंबई के आजाद मैदान में अपना विरोध जारी रखा। आजाद मैदान में मंगलवार से धरना चल रहा है, जिसे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का समर्थन हासिल है।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट