scorecardresearch

वो 5 फायदे, जिस कारण आपको खरीदना चाहिए हेल्‍थ इंश्‍योरेंस

Type Of Health Insurance: बाजार में कई तरह के हेल्‍थ इंश्‍योरेंस प्‍लान हैं, जिसे लोग अपनी समझदारी और अपने स्थिति के अनुसार चयन कर सकते हैं।

वो 5 फायदे, जिस कारण आपको खरीदना चाहिए हेल्‍थ इंश्‍योरेंस
क्‍या हैं हेल्‍थ इंश्‍योरेंस के फायदे, जानिए डिटेल (फोटो-Freepik)

भविष्‍य को ध्‍यान में रखकर लोग कई तरह का बीमा करवाते हैं, जिसमें जीवन बीमा से लेकर स्‍वास्‍थ्‍य बीमा तक शामिल है। हेल्‍थ इंश्‍योरेंस आपको इलाज के खर्चों से बचाने में मदद करता है। इससे परिवार और सदस्‍यों पर आर्थिक बोझ नहीं पड़ता है। हालाकि एक्‍सपर्ट्स का मानना है कि अब कौन सा हेल्‍थ इंश्‍योरेंस लेना है, इस बारे में भी लोगों द्वारा चर्चा होने लगी है।

बाजार में कई तरह के हेल्‍थ इंश्‍योरेंस प्‍लान हैं, जिसे लोग अपनी समझदारी और अपने स्थिति के अनुसार चयन कर सकते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेने में सावधानी बरतनी चाहिए और अपने लिए सही स्वास्थ्य बीमा कवर का चुनाव करना चाहिए। इससे आपके अस्‍पताल के खर्च की चिंता काफी हद तक कम हो जाती है। साथ ही कई और लाभ स्‍वास्‍थ्‍य बीमा के तहत आपको दिए जाते हैं, यहां जानकारी दी गई है कि आपके लिए हेल्‍थ इंश्‍योरेंस लेना क्‍यों जरूरी है और इससे क्‍या लाभ होता है।

हेल्‍थ इंश्‍योरेंस लेने के 5 बड़े फायदे

महंगाई दर बढ़ने से इलाज भी महंगा होता जा रहा है। अगर आप किसी गंभीर बीमारी या जीवन शैली की बीमारी के लिए अस्‍पताल में भर्ती होते हैं तो इस महंगाई में आप अपनी सेविंग खो सकते हैं। ऐसे में स्‍वास्‍थ्‍य इमरजेंसी के दौरान हेल्‍थ इंश्‍योरेंस ही काम आता है। इसलिए विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि हर किसी को हेल्‍थ इंश्‍योरेंस लेना चाहिए, क्‍योंकि किसी भी समय इसकी आवश्‍यकता पड़ सकती है।

चिकित्‍सा महंगाई को कंट्रोल: एक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी बढ़ती चिकित्सा लागतों के बावजूद, आज और भविष्य में अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के खर्चों सहित आपके चिकित्सा के खर्चों का भुगतान करने में आपकी मदद कर सकती है।

बेहतर चिकित्सा उपचार: यह आपको सर्वोत्तम गुणवत्ता वाले चिकित्सा उपचार और देखभाल को वहन करने में मदद करता है ताकि आप केवल ठीक होने पर ध्यान केंद्रित कर सकें। स्‍वास्‍थ्‍य बीमा होने पर आप बिना खर्चों की चिंता किए अच्‍छी जगह पर अपना इलाज करा सकते हैं।

अस्पताल में भर्ती होने का खर्च: एक स्वास्थ्य बीमा योजना 24 घंटे से अधिक समय तक अस्पताल में भर्ती रहने पर होने वाले चिकित्सा खर्चों को कवर करती है। इसमें कमरे का किराया, डॉक्टर की फीस, दवा का खर्च, डायग्नोस्टिक टेस्ट की फीस आदि शामिल हैं।

अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद में होने वाले खर्च: इसमें अस्पताल में भर्ती होने से पहले किसी बीमारी पर होने वाले चिकित्सा खर्चों के साथ-साथ छुट्टी मिलने के बाद होने वाले उपचार के खर्च शामिल हैं। अस्पताल में भर्ती होने से पहले और अस्पताल में भर्ती होने के बाद के खर्चों को पॉलिसी दस्तावेज़ के देने पर दिनों की एक निश्चित संख्या तक कवर किया जाता है।

सेविंग रखता है सुरक्षित: अगर आपने कहीं पर निवेश किया है और अचानक से हेल्‍थ इमरजेंसी के समय इसे खोना पड़ जाए तो आपकी सभी सेविंग खत्‍म हो सकती है। लेकिन अगर स्‍वास्‍थ्‍य बीमा रहता है तो आप अपने सेविंग को बचा सकते हैं।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.