ताज़ा खबर
 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- ‘थैंक यू छोटा भीम’, जानिए क्यों किया ऐसा ट्वीट

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट में लिखा, 'छोटा भीम का बड़ा समर्थन! सपने को पूरा करने में जुटी टीम को मजबूत करने के लिए धन्यवाद छोटा भीम।'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औऱ छोटा भीम (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्टून कैरेक्टर ‘छोटा भीम’ को शुक्रिया कहा। उन्होंने ट्विटर पर छोटा भीम के हैंडल से किए गए ट्वीट को रिट्वीट किया और लिखा- ‘छोटा भीम का बड़ा समर्थन!’ दरअसल प्रधानमंत्री का यह ट्वीट स्वच्छ भारत के उनके महत्वाकांक्षी अभियान को मजबूत करने के लिए ‘छोटा भीम’ द्वारा उठाए गए कदम के चलते सामने आया है।

ये है प्रधानमंत्री का पूरा ट्वीटः प्रधानमंत्री ने ट्वीट में लिखा, ‘छोटा भीम का बड़ा समर्थन! स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने में जुटी टीम को मजबूत करने के लिए धन्यवाद छोटा भीम। यह महत्वपूर्ण सहयोग निश्चित तौर पर युवाओं को स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ने के लिए प्रेरित करेगा।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट

क्या है इस गेम मेंः उल्लेखनीय है कि बच्चों को साफ-सुथरा रहने और देश को स्वच्छ बनाने की मुहिम में बच्चों को प्रेरित करने के लिए ‘छोटा भीम स्वच्छ भारत रन’ की शुरुआत की है। यह एक तरह का गेम है जिसमें कई चुनौतियों के साथ स्वच्छता का संदेश दिया गया है। इसके तहत मुंबई, जयपुर, दिल्ली जैसे शहरों से कचरा उठाने और भारत को क्लीन-ग्रीन बनाने की मुहिम शामिल है।

2014 में शुरू हुई थी मुहिमः स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत 2 अक्टूबर 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा शुरू किया गया था। शुरुआत में इसमें कई बड़ी हस्तियों को मुहिम से जोड़ा गया था। इस मुहिम के तहत भारत सरकार खुले में शौच मुक्त करने जैसी मुहिम भी चला रही है। अब तक फिल्म, खेल, साहित्य समेत अन्य क्षेत्रों की कई दर्जन हस्तियां इस मुहिम का हिस्सा बन चुकी हैं।

छत्तीसगढ़ में छोटा भीम का स्वच्छ भारत अभियान

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 URI Box Office Collection Day 6: 50 करोड़ बटोर चुकी विक्की कौशल की फिल्म, URI की धमाकेदार कमाई का सिलसिला जारी
2 लोन चुकाने में सक्षम कर्जदारों से भी नहीं हो पा रही वसूली, ढाई साल में दोगुना हुआ बकाया
3 सियासी किस्सा : आखिर प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री क्यों गए थे ताशकंद, जहां से फिर कभी नहीं लौटे