ताज़ा खबर
 

गैंगरेप: अनशन कर रहीं स्वाति मालीवाल से मिले शत्रुघ्न सिन्हा, बोले- मेरी भी बेटी है, भाषण नहीं एक्शन का वक्त

इस मुलाकात के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि ' मेरी भी बेटी है, यह भाषण का नहीं एक्शन का समय है'। स्वाति मालिवाल के अनशन को अपना समर्थन देने पहुंचे शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मैं यहां एक राजनीतिज्ञ के रुप में नहीं आया हूं, बल्कि एक जागरुक नागरिक, जागरुक कलाकार और एक जागरुक पिता के तौर पर आया हूं।

डीसीडब्लू अध्यक्ष के अनशन का सोमवार को चौथा दिन था।

कठुआ और उन्नाव गैंगरेप के खिलाफ अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल से मिलने शत्रुघ्न सिन्हा पहुंचे। सोमवार (16-04-2018) को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद ने समता स्थल पर जाकर स्वाती मालीवाल  से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि ‘ मेरी भी बेटी है, यह भाषण का नहीं एक्शन का समय है’। स्वाति मालीवाल के अनशन को अपना समर्थन देने पहुंचे शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मैं यहां एक राजनीतिज्ञ के रुप में नहीं आया हूं, बल्कि एक जागरुक नागरिक, जागरुक कलाकार और एक जागरुक पिता के तौर पर आया हूं।

शत्रुघ्न सिन्हा ने यहां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का समर्थन भी किया। उन्होंने कहा कि मैं अरविंद केजरीवाल से पूरी तरह सहमत हूं कि इस तरह के गंभीर अपराधों में तय सीमा में मुकदमा पूरा कर दोषियों को मौत की सजा होनी चाहिए। आपको बता दें कि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल बच्चों के बलात्कार के मामलों में मुकदमा 6 महीने में पूरा होने और अपराधियों को फांसी देने की मांग को लेकर पिछले 4 दिनों से अनशन कर रही हैं। साथ ही वो दिल्ली मे बेहतर फॉरेंसिक लैब और 66,000 पुलिस कर्मियों की भर्ती की मांग भी कर रही हैं।

इधर स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर सीएम अरविंद केजरीवाल से मदद भी मांगी है। अपने ट्वीट मे स्वाति मालीवाल ने लिखा कि डीसीपी, एसीपी और डॉक्टर मुझे परेशान कर रहे हैं। स्वाति मालिवाल ने सीएम अरविंद केजरीवाल से कहा कि पुलिस उन्हें वहां से जबरन हटाना चाहती है, मुझे दिल्ली पुलिस से बचाएं। मालीवाल के इस ट्वीट पर केजरीवाल ने भी ट्वीट कर लिखा कि मालिवाल बच्चियों की सुरक्षा के लिए लड़ रही हैं। मैं एलजी अनिल बैजल और गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मांग करता हूं कि दोनों दिल्ली पुलिस को निर्देश दें कि उन्हें परेशान ना किया जाए।

इधर चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री एसोसिशन ने भी स्वाति मालीवाल का समर्थन करते हुए कहा है कि दिल्ली के अलग-अलग बाजारों में दुष्कर्म रोको मुहिम शुरू की जाएगी। 100 से अधिक बाजारों में कैंडल मार्च निकाले जाएंगे। कठुआ और उन्नाव गैंगरेप को लेकर इस वक्त पूरा देश उबल रहा है, इन मामलों के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग लगातार की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App