दिल्ली में अब नहीं लगाने पड़ेंगे RTO के चक्कर, घर बैठे पा सकेंगे सभी सेवाएं; जानें- कैसे?

फेसलेस ट्रांसपोर्ट सर्विसेज की मदद से अब ई लर्निंग लाइसेंस घर बैठे मिल जाएगा। इसके लिए घर, ऑफिस या एजुकेशनल इंस्टिट्यूशन में ऑनलाइन टेस्ट दे सकेंगे।

Arvind Kejriwal, Delhi, AAP, RTO
आरटीओ ऑफिस में लोगों को अब नहीं लगना होगा लाइन (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

Ghar Par RTO: अब दिल्ली के लोगों को आरटीओ का चक्कर नहीं लगाना होगा। अरविंद केजरीवाल सरकार की तरफ से लोगों की सुविधा के लिए अब लोगों को घर पर ही इसकी सुविधा उपलब्ध करवायी जाएगी। दिल्ली में परिवहन विभाग को फेसलेस किए जाने की शुरुआत की गयी है।

बताते चलें कि इस सुविधा के लिए विभाग पिछले 6 साल से काम कर रहा था। इस सुविधा के बाद लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस समेत 33 कार्यों के लिए आरटीओ दफ्तर का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। इस अवसर पर केजरीवाल ने कहा था कि ये सेवा ऐतिहासिक है, पहले ये अमेरिका में होता था अब दिल्ली में भी शुरू हो रहा है।

कैसे होगा काम? : आधार प्रमाणीकरण के आधार पर आप वाहन रजिस्ट्रेशन और ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़ी 18 तरह की सर्विस का फायदा उठा सकते हैं। इसके लिए आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आपके लाइसेंस को आधार कार्ड से रजिस्टर करना होगा। इसके बाद आप कई तरह से सुविधाएं ऑनलाइन माध्यम से ही ले सकते हैं। इन सर्विस में लर्निंग लाइसेंस, ड्राइविंग लाइसेंस का रिन्यूअल, ड्राइविंग लाइसेंस में पता बदलना आदि भी शामिल है।

देश में पहली बार ई-लर्निंग लाइसेंस: फेसलेस ट्रांसपोर्ट सर्विसेज की मदद से अब ई लर्निंग लाइसेंस घर बैठे मिल जाएगा। इसके लिए घर, ऑफिस या एजुकेशनल इंस्टिट्यूशन में ऑनलाइन टेस्ट दे सकेंगे। टेस्ट पास होने पर लर्निंग लाइसेंस तुरंत जेनरेट हो जाएगा। एनआईसी की तरफ से इसके लिए फेस रेकिग्रेएशन सॉफ्टवेयर भी तैयार किया गया है।

बताते चलें कि कुछ ही दिन पहले सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइंस के अनुसार ड्राइविंग लाइंसेंस जारी करने की नई सुविधा के साथ अब एनजीओ, प्राइवेट कंपनियां, ऑटोमोबाइल एसोसिएशन, व्हीकल मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन, ऑटोनॉमस बॉडी, प्राइवेट व्हीकल मैन्युफैक्चरर भी लाइसेंस जारी कर सकते हैं। गाइडलाइंस में कहा गया है कि जो संस्थाएं ट्रेनिंग सेंटर खोलना चाहती हैं, इनके पास केंद्रीय मोटर वाहन नियम 1989 के तहत निर्धारित जमीन पर जरूरी सुविधाएं होनी जरूरी है। यही नहीं अगर कोई राज्य या केंद्र शासित प्रदेश में इसके लिए अप्लाई करता है, तो उसे रिसोर्स को मैनेज करने को लेकर अपनी फाइनेंशिल कैपेबिलिटी दिखानी होगी।

अपडेट